Home हिंदी कविता संग्रहरिश्तों पर कविताएँ झूठी दुनिया झूठे लोग- हिंदी कविता | Jhoothi Duniya Jhoothe Log

झूठी दुनिया झूठे लोग- हिंदी कविता | Jhoothi Duniya Jhoothe Log

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

आप पढ़ रहे है हिंदी कविता – झूठी दुनिया झूठे लोग

झूठी दुनिया झूठे लोग

झूठी दुनिया झूठे लोग- हिंदी कविता

झूठी दुनिया, झुठे लोग कि इनकी बातें भी झूठी,
झूठे हैं इरादे भी और मुस्कुराहटें भी झूठी,

बंधती है डोर प्यार की जिस विश्वास के धागे से,
देखो तो पता चलता है वो डोर है टूटी,
किस शख्स पर करें यकीन, समझ नहीं आता,
इमारत तो है भरोसे की, मगर बुनियाद है झूठी,

रिश्तों मे भी आ गया है स्वार्थ अब ऐसा
साथ मिलने की, सारी उम्मीदें हैं छूटी,
मुखौटे झूठे खुशियों के सबके चेहरों पर हैं,
मगर अफ़सोस इनकी, सभी बातें हैं झूठी,

कोई गैर नहीं आया था लूटने मेरी खुशी की दौलत
ये तो मेरे अपनों ने मिलकर है लूटी,
झूठी दुनिया, झूठे लोग कि इनकी बातें भी झूठी,
झूठे हैं इरादे भी और मुस्कुराहटें भी हैं झूठी।

पढ़िए – हिंदी कविता – इन बेशर्मों की बस्ती में

आपको ये कविता कैसी लगी ? कमेंट बॉक्हस के जरिये हमें जरूर बताएं।

तबतक पढ़े ये सुन्दर रचनाएं :-

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

8 comments

Avatar
Sonukumar January 3, 2022 - 10:10 PM

Mtlvi duniya

Reply
Avatar
mridula roy July 23, 2019 - 8:32 PM

बहुत बढ़िया।आज की वास्तविकता को दिखाती है।

Reply
Avatar
NAVEEN SINGH April 17, 2018 - 7:25 AM

अति सुन्दर

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh April 17, 2018 - 7:28 AM

धन्यवाद नवीन सिंह।

Reply
Avatar
Sanjay pahari March 21, 2018 - 4:12 PM

Bahut motivational dil Ko chuny wali kavita hi padhny k baad kuch ahsas dil me jagy kuch himmat si bandhi hi Ki jindagi yu mahrum na hony paiegy..sabhi kavitain bahut achhi hi,well done

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh March 22, 2018 - 7:28 AM

Thank you Sanjay ji..

Reply
Avatar
Achhipost September 23, 2017 - 11:34 AM

बहुत ही अछि कविता। धन्यवाद शेयर करने के लिए

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh September 24, 2017 - 9:49 AM

सराहना के लिए धन्यवाद Achhipost जी।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More