Home अप्रतिमब्लॉग परिचय

अप्रतिमब्लॉग परिचय

by ApratimGroup
about us apratimblog
ApratimBlog

अप्रतिमब्लॉग परिचय

अप्रतिमब्लॉग डॉट कॉम या अप्रतिमब्लॉग एक मोटिवेशनल हिंदी ब्लॉग है। ये हिंदी ब्लॉग सन् 2016 में शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य अपनी भावनाओं, विचारों, रचनाओं, और दुनिया को अपने नजरिये से पेश करना था। लेकिन हमारी प्रेरक कविताओं, शायरियों और रोचक जानकारीयाँ और कहानियों को पाठकों ने बहुत पसंद किया जिसके परिणाम स्वरुप ये ब्लॉग एक प्रसिद्ध मोटिवेशनल हिंदी ब्लॉग के रूप में स्थापित हो गया।

इस ब्लॉग में बहुत से लेखक अपनी रचनाएँ भी प्रकाशित करवाते है साथ ही अप्रतिमब्लॉग, कंटेंट क्रिएटर को उनके प्रोजेक्ट जैसे की यूटूब, स्टेज ड्रामा, स्कूल प्रोजेक्ट आदि के लिए भी कंटेंट उपलब्ध करवाती है।


अप्रतिमब्लॉग उद्देश्य

लेखकों के लिए : लेखकों को उनकी रचनाओं को प्रकाशित करने और लाखों पाठकों तक पहुँचाने के लिए एक डिजिटल प्लेटफार्म प्रदान करना।

कंटेंट क्रिएटर्स के लिए : कंटेंट क्रिएटर्स के लिए बढ़िया कंटेंट उचित मूल्य में उपलब्ध करवाना।

पाठकों के लिए : पाठकों को विभिन्न विषयों पर विभिन्न विधाओ में रसास्वादन के लिए रचनाएँ उपलब्ध करवाना।

बाकि सभी के लिए : समाज को लोगों को बेहतरीन रचनाओं द्वारा प्रेरित करना।


अप्रतिमब्लॉग का अस्तित्व

अप्रतिमब्लॉग की शुरुआत और यहाँ तक का सफ़र संभव हुआ इन दो स्वप्न-दर्शियों की वजह से, जिनका परिचय वाक्य है:

“जिंदगी इन्तेहाँ है तो क्या, मंज़िलों का हमें है जूनून।”

चन्दन बैस

Chandan Bais

*जितना प्यार किताबों से उतना ही टेक्नोलॉजी से।*
*इतिहास और भविष्य देखना है। अंतरिक्ष में गोता लगाना है।*
*सोचने में माहिर, सीखने का शौक़ीन।*
*अंतर्मन में उतरने और सपनों को कण्ट्रोल करने की कोशिश जारी।*
*एक सुपर लर्नर, मोटिवेशनल पर्सन, वेबसाइट मेकर, रिस्क टेकर और इंटरप्रेन्योर..!*

संदीप कुमार सिंह

Sandeep Kumar Singh

*जिनका जीवन मंत्र है:
“जिंदगी में कभी किसी काम को ना नहीं बोलना, क्या पता सफलता किस राह पर मिल जाए, नहीं तो अनुभव तो मिलेगा ही।“*
*खासियत : आम जिंदगी से ख़ास चीजें निकाल कर लोगों के सामने प्रस्तुत करना, सबको जीवन में संघर्षों का सामना कर विजय प्राप्त करने की प्रेरणा देना।*

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More