Home हिंदी कविता संग्रह कविता चिड़िया और सूरज | Kavita Chidiya Aur Suraj

कविता चिड़िया और सूरज | Kavita Chidiya Aur Suraj

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

 ‘ कविता चिड़िया और सूरज ‘ एक प्रकृतिपरक रचना है जिसमें सूरज के साथ चिड़िया के सम्बन्ध को रेखांकित किया गया है। चिड़िया ,सूरज के उगने के साथ  उठ जाती है और सूरज डूबने के साथ ही सो जाती है। चिड़िया अपना जीवन पूरी तरह से प्रकृति के साथ एकरूपता रखकर जीती है। उसकी दिनचर्या सूरज के साथ – साथ ही चलती है।

सूरज से ही उसे समय और दिशा का ज्ञान होता है। चिड़िया में भी सूर्य के समान अपार धैर्य होता है। वह किसी भी दुःख से विचलित होए बिना वर्तमान में जीती है। चिड़िया को विश्वास है कि लम्बी काली रात के बाद फिर सूरज उगेगा। हमें भी चिड़िया की तरह हर कष्ट को सहकर भविष्य के प्रति आशावान रहना चाहिए। 

कविता चिड़िया और सूरज

कविता चिड़िया और सूरज

बैठ डाल पर उगता सूरज
देख रही है चिड़िया,
नीले नभ में स्वर्ण थाल – सा
है यह कितना बढ़िया।

पूर्व दिशा से ऊपर उठता
किरणों को फैलाता,
दिन भर देकर धूप जगत को
पश्चिम में छुप जाता।

सूरज के स्वागत में चिड़िया
प्रातः गीत सुनाती,
दाना चुगने उड़ जाती फिर
शाम ढले घर आती।

साथ सूर्य के चिड़िया की भी
दिनचर्या है चलती,
धूप – छाँव का खेल खेलते
जीवन – आशा पलती।

यह सूरज की गर्माहट को
पंखों में भर लेती,
और उजालों को सहेज कर
आँखों में धर देती।

चाल समय की सूरज से ही
चिड़िया ने पहचानी,
हर पल की आहट से चिड़िया
नहीं रही अनजानी।

दिशा-ज्ञान भी सूरज से ही
चिड़िया को हो जाता,
राह भटकने का डर इसके
मन को नहीं सताता।

चिड़िया अपना सारा जीवन
सहज भाव से जीती,
सूरज के सम यह धीरज से
कभी न होती रीती।

हम भी सीखें इस चिड़िया से
बिन चिन्ता के जीना,
दुःख की काली रातों को भी
हँसते – हँसते पीना ।

पढ़िए ऐसी ही प्रेरणादायक कविताएं :-

” कविता चिड़िया और सूरज ” आपको कैसी लगी? अपने विचार कमेन्ट बॉक्स में जरूर लिखें।

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More