Home » हिंदी कविता संग्रह » प्रेरणादायक कविताएँ » उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है :- आगे बढ़ने का उत्साह पैदा करती कविता

उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है :- आगे बढ़ने का उत्साह पैदा करती कविता

by ApratimGroup

जिंदगी में परेशानियाँ तो आती रहती हैं लेकिन असली इन्सान वो है जो अपने जीवन में नकारात्मकता को पीछे छोड़ आगे बढ़ जाए। आप जहाँ रुक गए आपकी जिंदगी भी वहीं रुक जाती है। इसलिए अगर जिंदगी में बदलाव लाने केलिए कुछ सबसे ज्यादा जरूरी है तो वो है आगे बढ़ना और जब आपका दिल ही आगे बढ़ने को कहने लगे तो तो आपको कौन रोक सकता है। आइये पढ़ते हैं इसी विचार को बताती उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है :-

उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है

उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है

खुद में एक नयी उमंग और नया जोश पैदा कर
दिल कहता है कि अब तू बड़ा हो चल
छोड़ चंचलता और नादानी खुद में बदलाव कर
ज़िन्दगी में कुछ करने के लिए अब तू मचल
पैदल ही सही पर तू हिम्मत तो कर और निकल
दिल कहता है कि अब तू बड़ा हो चल….

कुछ भी नही अपनों से बढ़कर यहाँ
ये दुनियां भी है मतलब की, ध्यान कर
कोई करता नहीं परवाह किसी की भावनाओं की
किसी की उदासी का न बन कसूरवार तू परोपकार कर
मत घबरा तू मुकाम से और अपनों के लिए निकल
दिल कहता है कि अब तू बड़ा हो चल….

इस देश की खातिर कुछ करने की, कर पहल
सेवा भाव को अपने अंदर पैदा कर
चाह हो कुछ करने की तो खुद को बदल
इस माटी का कर्ज तू अदा कर
ला तू स्वयं में समर्पण का भाव और देश के लिए निकल
दिल कहता है की अब तू बड़ा हो चल….

नहीं देता कोई साथ यहाँ सारी उमर
होता नहीं कोई किसी का यहाँ, तू जान ले
छोड़ देते हैं यहाँ सब मन भर जाने पर
मत उलझ झूठी मुहब्बतों में तू मान ले
बस अपने जीवन की कर फिकर, स्वयं के लिए निकल
दिल कहता है की अब तू बड़ा हो चल….

न खुद को कर उदास किसी के जाने पर
जो तेरा था ही नहीं उसके जाने का गम क्यूँ कर
न कर कोई फ़िक्र अब रख भरोसा भगवान पर
सब तुझे मिल जायेगा सही वक़्त आने पर
बस तू धैर्य रख और अब आगे निकल
दिल कहता है की अब तू बड़ा हो चल
दिल कहता है की अब तू बड़ा हो चल….

पढ़िए अप्रतिम ब्लॉग की ये उत्साहवर्धक रचनाएं :-


हरीश चमोलीमेरा नाम हरीश चमोली है और मैं उत्तराखंड के टेहरी गढ़वाल जिले का रहें वाला एक छोटा सा कवि ह्रदयी व्यक्ति हूँ। बचपन से ही मुझे लिखने का शौक है और मैं अपनी सकारात्मक सोच से देश, समाज और हिंदी के लिए कुछ करना चाहता हूँ। जीवन के किसी पड़ाव पर कभी किसी मंच पर बोलने का मौका मिले तो ये मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी।

‘ उत्साहवर्धक कविता दिल कहता है ‘ के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

धन्यवाद।

You may also like

6 comments

Avatar
Harish chamoli May 2, 2021 - 11:33 PM

जी मैंम अवश्य, आप ऎसी ही प्रेरित करते रहिए।
धन्यवाद

Reply
Avatar
कुमार मुकेश January 18, 2021 - 8:17 AM

बहुत ही लाजवाब और सुन्दर शब्दो का मेल आपने अपनी कविता के माध्यम से पेश किया है जी

Reply
Avatar
हरीश चमोली October 1, 2019 - 5:33 AM

आप सभी की प्रतिक्रिया देखकर मेरा मनोबल और अधिक बढ़ता है, मै आपके दिए सुझाओं पर काम करूँगा और भविष्य में आपके लिए और बेहतर रचनाएं लिखूंगा .
हृदयतल से आपका हार्दिक आभार एवं धन्यवाद
हरीश चमोली
Mob -9740270963

Reply
Avatar
विवेक सोनी August 15, 2019 - 8:57 AM

अपनी शैली और निखारिये।

Reply
Avatar
Daisy Jairaj April 21, 2019 - 7:15 PM

नमस्कार हरीश जी !
मै एक अध्यापिका हूँ , किशोरावस्था के छात्रों के लिए अपठित पद्य ढूँढ़ते ढूँढते आपकी कविता हाथ लगी , बहुत सुंदर लिखते हैं आप , आपकी कविता से नवयुवकों का उत्साह वर्धन होगा |
एक सलाह है आप अपने अंदाज़ में कविता पाठ के video भी अपलोड कीजिए |

Reply
Avatar
Dilkewords September 22, 2018 - 11:50 AM

waaah bahut khoob kya kahne

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More