Home » हिंदी सुविचार संग्रह » शिक्षाप्रद सुविचार हिंदी में | सकारात्मक हिंदी सुविचार संग्रह – 2

शिक्षाप्रद सुविचार हिंदी में | सकारात्मक हिंदी सुविचार संग्रह – 2

by Sandeep Kumar Singh
2 comments

आप पढ़ रहे है – हिंदी सुविचार संग्रह – 2 शिक्षाप्रद सुविचार हिंदी में

शिक्षाप्रद सुविचार – सकारात्मक सुविचार संग्रह

सकारात्मक सुविचार

1.

अगर इंसान मन में अपनी हार सोच ले तो उसे भगवन भी जीत नहीं दिला सकते,
और अगर इंसान मन में अपनी जीत सोच ले तो उसे भगवन भी नहीं रोक सकते।


2.

परेशानियां जिंदगी में नहीं हमारे मन में हैं,
जिस दिन हमने मन पर विजय पा ली जिंदगी अपने आप संवर जायेगी।


3.

दिल में चाहत और सर पे जुनून हो, ऊँची ख्वाहिशें और उबलता खून हो
मेहनत के रंग बने एक मिसाल नयी तब जाकर कहीं दिल को सुकून हो।


4.

मंजिल तभी पायी जा सकती है दोस्तों, जब जोश शरीर में और मन में सुकून हो।


5.

गलती करना बुरी बात नहीं है, बुरा है तो उसके हो जाने के बाद उसे सुधारने की कोशिश न करना।


6.

स्वयं पर विजय पाकर ही, संसार पर विजय प्राप्त की जा सकती है।


7.

हालातों को न बदलें खुद को बदलें, हालात अपने आप बदल जाएंगे।


8.

आप तब तक कुछ नहीं कर सकते, जब तक आप कुछ सोचते नहीं हैं।
सफल होने के लिए, सकारात्मक सोच जरूरी है, 
नकारात्मक विचार हमें आगे नहीं बढ़ने देते।


9.

जब तक आप किसी लक्ष्य के लिए खुद को पूर्ण रूप से समर्पित नहीं करते,
तब तक लक्ष्य प्राप्ति में संशय बना रहता है।


10.

जीवन के अनुभवों से प्राप्त ज्ञान ही सच्चा ज्ञान है।


11.

मन में विश्वास और खुद में काबिलीयत हो तो
ऐसा कोई कार्य नहीं है जो इंसान नहीं कर सकता।


12.

गलती माफ़ी मांगने से नहीं सुधारने से सही होती है।


13.

हमारी सबसे बड़ी ताकत हमारा मनोबल है,
जब तक हृदय में आत्मविश्वास न होगा, हम किसी कार्य में सफल नहीं होंगे।


14.

कोई जन्म से महान नहीं होता हर कोई कर्म से महान बनता है, और आप भी उनमे से एक बन सकते हैं।


15.

तुम्हारे सारे सवालों का जवाब तुम्हारे अन्दर ही है,
बस प्रयास करो तुम्हे वो सब हासिल होगा जो तुम चाहते हो।

पढ़िए- सुकरात के अनमोल वचन | Socrates Best Quotes In Hindi

ये शिक्षाप्रद सुविचार संग्रह आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं।

पढ़िए अप्रतिम ब्लॉग के ये बेहतरीन सुविचार संग्रह :-

धन्यवाद।

You may also like

2 comments

Avatar
नवीन कुमार जैन नवम्बर 28, 2017 - 4:53 पूर्वाह्न

सकारात्मक सुबिचार जीबन के लिए अनमोल खजाने का संग्रह है।जब चाहें खर्ज करे कभी नही खत्म होने बाला हसि जीबन पर्यन्त साथ रहेगा।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 28, 2017 - 8:48 पूर्वाह्न

बिल्कुल सही बात कही आपने नवीन जैन जी।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.