Home » शायरी की डायरी » ज़िन्दगी-प्रेरणादायक » कामयाबी पर शायरी :- कामयाबी की शायरी | Kamyabi Status In Hindi

कामयाबी पर शायरी :- कामयाबी की शायरी | Kamyabi Status In Hindi

by Sandeep Kumar Singh
43 comments

Kamyabi Status In Hindi – कामयाब होना किसका ख्वाब नहीं होता? आज के समय में हर इंसान तरक्की पाना चाहता है। लेकिन कामयाबी आसानी से नहीं मिलती। उसके लिए बहुत मेहनत के साथ ही एक सही योजना का होना आवश्यक है। और साथ में जरूरी है कामयाबी हासिल करने के लिए प्रेरित होना। प्रेरणा एक ऐसी चीज है जो इन्सान से कुछ भी करवा सकती है। तो हमने भी आपको कामयाबी के लिए प्रेरित करने एक शायरी संग्रह ‘ कामयाबी पर शेर ‘ लिखा है। तो आइये पढ़ते हैं और खुद को कामयाबी पाने के लिए प्रेरित करते हैं :- ‘ कामयाबी पर शेर ‘

Kamyabi Status In Hindi
कामयाबी पर शायरी


देखिये इस शायरी संग्रह का विडियो, या पढ़ने के लिए नीचे जाएं:-

Kamyabi Par Shayari | Shayari On Success | कामयाबी की शायरी

1.
संघर्ष की आग में जो हर पल
सोने सा खुद को तपाते हैं,
कामयाबी उन्हीं को मिलती है
वही इतिहास रचाते हैं।

2.
सूरज जैसे वो जलते हैं
साथ वक़्त के चलते हैं
होते हैं फिर वो कामयाब
जो घर से अपने निकलते हैं।

3.
जिंदगी का हर पल लाजवाब हो न हो
जिंदगी के हर सवाल का जवाब होना चाहिए,
कितनी देर लगेगी, फर्क नहीं पड़ता
इंसान जिंदगी में कामयाब होना चाहिए।

4.

जिंदगी में कुछ पाना है, तो खुद पर ऐतबार रखना
सोच पक्की और क़दमों में रफ़्तार रखना
कामयाबी मिल जाएगी एक दिन निश्चित ही तुम्हें
बढ़ने के लिए आगे, बस खुद को तैयार रखना।

5.

यूँ ही हर कदम पर मत लड़खड़ाना
कामयाबी पानी है तो संभल जाना,
शोर मत करना अपनी कोशिशों का
बस ख़ामोशी से जिंदगी बदल जाना।

6.

ग़म नहीं है दिन के बीत जाने का
अभी तो पूरी रात बाकी है,
यूँ ही नहीं हिम्मत हार सकता मैं
अभी तो कामयाबी से मुलाकात बाकी है।

7.

जागते रहना है मुझे,
क्योंकि अपने सपनों को पाना है
अपनी काबिलियत का करिश्मा,
इस ज़माने को दिखाना है,
कामयाबी तो हासिल
कर ही लूँगा एक दिन
मुझे तो अपनी उँगलियों पर
किस्मत को नचाना है।

8.

जो भीड़ में शोर मचाते हैं
वो भीड़ ही बन रह जाते हैं,
होते हैं वही बस कामयाब
जो अपनी राह बनाते हैं।

9.

यूँ ही नहीं मिलता कोई मुकाम
उन्हें पाने के लिए चलना पड़ता हैं,
आसान कहाँ होता है कामयाबी का मिलना
उसके लिए किस्मत से लड़ना पड़ता हैं।

10.

हद इतनी करो
कि हद की इन्तेहाँ हो जाए,
कामयाबी इस तरह मिले
कि वो भी एक दास्ताँ हो जाए।

11.

देखते हैं ये जिंदगी हमें कब तक भटकाएगी
किसी दिन तो हमारी कोशिशें रंग लाएंगी,
उस रोज हम आराम से बैठेंगे अपने कमरे में
और कामयाबी बाहर खड़ी दरवाजा खटखटाएगी।

12.

चले हैं जिस सफ़र पर उसका कोई अंजाम तो होगा
जो हौंसला दे सके ऐसा कोई जाम तो होगा,
दिल में ठान ली है कामयाबी को अपना बनाने की
अब इसका कोई न कोई इंतजाम तो होगा।

13.

हाथों की लकीरों में नहीं
कामयाबी माथे के पसीने में हैं,
वो मजा आम जिंदगी में कहाँ,
जो बिंदास जीने में है।

14.

मुसीबतें ही सिखाती हैं इंसान को
जिंदगी जीने का हुनर,
कामयाबी का मिलना
कोई इत्तेफाक नहीं होता।

15.

जो खैरात में मिलती कामयाबी
तो हर शख्स कामयाब होता,
फिर कदर न होती किसी हुनर की
और न ही कोई शख्स लाजवाब होता।

16.

जिंदगी जीने का तरीका उन्हीं लोगों को आया है
जिन्होंने अपनी जिंदगी में हर जगह धक्का खाया है,
जमाया है सर्द रातों में खुद को तपती धूप में खुद को तपाया है
वही हुए हैं कामयाब जिंदगी में, उन्होंने ने ही इतिहास रचाया है।

17.

मत घबराना जिंदगी में परेशानियों की पतझड़ से
मेहनत की बसंत खुशियों की बहार जरूर लाएगी,
खून पसीने से सींचना अपनी कोशिशों को
इन कोशिशों के बल पर ही कामयाबी आएगी।

18.

ऊँचे ख्वाबों के लिए
दिल की गहराई से काम करना पड़ता है,
यूँ ही नहीं मिलती कामयाबी किसी को
मेहनत की आग में दिन रात जलना पड़ता है।

19.

न भीड़ पसंद हो जिनको वो अक्सर तनहा चलते हैं
रौशन करने को किस्मत अपनी सूरज की तरह वो जलते हैं
कितनी भी कठिन हो राह मगर न कभी वो पीछे मुड़ते हैं
पा लेते हैं कामयाबी को जो वक़्त मुताबिक ढलते हैं।

20.

कामयाबी के सफ़र में मुश्किलें तो आएँगी ही
परेशानियाँ दिखाकर तुमको तो डराएंगी ही,
चलते रहना कि कदम रुकने ना पायें
अरे मंजिल तो मंजिल ही है एक दिन तो आएगी ही।


पढ़िए :- “कामयाबी पर स्टेटस और कोट्स”


आपको यह शायरी संग्रह ( Kamyabi Status In Hindi ) ‘ कामयाबी पर शायरी ‘ कैसा लगा? अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। यदि आप भी चाहत रखते हीन ऐसा ही कुछ लिखने और हमारे ब्लॉग पर प्रकाशित करवाने की। तो लिख भेजिए हमे अपनी रचनाएं।

पढ़िए जिंदगी को कामयाब बनाने के लिए ये बेहतरीन रचनाएं :-

धन्यवाद।

You may also like

43 comments

Avatar
Kapil Rana दिसम्बर 4, 2020 - 9:36 पूर्वाह्न

Aapki kavitaen bahut hi Acchi Hain main aapse nivedan karna Chahunga Ki Ab ISI Tarah Ki kavitaen likhate Rahen.
Kapil

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 31, 2021 - 9:20 अपराह्न

प्रोत्साहन के लिए धन्यवाद कपिल राणा जी….

Reply
Avatar
Ashu rai दिसम्बर 1, 2018 - 11:27 अपराह्न

Sir . Me abhi 17 year ka hu me aap sabhi se puchna chahunga ki kya jindgi me hamesa jitna jarure he

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh दिसम्बर 2, 2018 - 9:38 पूर्वाह्न

जिंदगी में हर चीज जीत की तरफ ही बढ़ती है। हमारी हार में भी हमारी जीत होती है। क्योंकि तब हम जान जाते हैं कि सच्चाई क्या है। सकारत्मकता ही जिंदगी है।

Reply
Avatar
Babul Rajwanshi नवम्बर 30, 2018 - 10:47 अपराह्न

Bhaut acha shayari laga mujhe

Reply
Avatar
Karan नवम्बर 11, 2018 - 10:13 अपराह्न

Bahut acche

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 12, 2018 - 6:53 अपराह्न

धन्यवाद करन जी…..

Reply
Avatar
Mr.verma अक्टूबर 28, 2018 - 10:29 पूर्वाह्न

Superb ji

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अक्टूबर 28, 2018 - 11:03 अपराह्न

धन्यवाद मिस्टर वर्मा जी।

Reply
Avatar
प्रकाश बाजिया खंडेला अक्टूबर 8, 2018 - 8:03 पूर्वाह्न

अपनी “कोशिशों” को परिणाम में बदलिए,
जमाना कोशिशों को नहीं “परिणाम” को महत्व देता हैं..

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अक्टूबर 8, 2018 - 5:57 अपराह्न

बिलकुल सही बात अपने प्रकाश जी।

Reply
Avatar
jitendra pratap singh chouhan जुलाई 27, 2018 - 2:28 अपराह्न

Nice sir

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जुलाई 28, 2018 - 9:16 पूर्वाह्न

धन्यवाद जितेंद्र प्रताप सिंह चौहान जी।

Reply
Avatar
Nikhil hajare जुलाई 9, 2018 - 7:34 अपराह्न

Mujhe manjil ko pana hai…
Bhale mujhe Rasta muskil lage…
Mai bhi aoro ki tarah ek musafir hu…
Ek din me nahi par ek din to aayega..
Jo mere safar ko manjil me tabdil kar jayega

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जुलाई 15, 2018 - 10:41 पूर्वाह्न

बहुत बढ़िया निखिल जी।

Reply
Avatar
Shivam Mishra जून 17, 2018 - 10:16 अपराह्न

बहुत ही रोचक लाइने.. दिल मोह लिया…..

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जून 18, 2018 - 7:30 पूर्वाह्न

धन्यवाद शिवम मिश्रा जी।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मई 15, 2018 - 9:41 अपराह्न

सबसे पहले अपनी दिनचर्या में कुछ समय ध्यान लगाने के लिए निकालिए। इस से आपका मन नियंत्रित होगा तभी आप सही मार्ग चुन पाएंगे अपने आप को व्यस्त रखना सीखिए मन जब खाली रहता है तभी उसमे गलत विचार आते हैं और उसी कारण हम जीवन में आगे नहीं बढ़ पाते।

Reply
Avatar
Smit मई 15, 2018 - 1:21 पूर्वाह्न

Kya karun me kuch samjh nhi ata muje life me kuch karna chahata hu to kar nhi pata kuch hasil karna chahata hu nhi kar pata kuch esa batao ki muje ek raha mile

Reply
Avatar
mohd sakib अप्रैल 23, 2018 - 12:54 अपराह्न

aap bhut hi shandaar ho .bhut accha likhte ho aap jo bhi ho meri taraf se bhut bhut mubarakbad

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अप्रैल 23, 2018 - 5:39 अपराह्न

धन्यवाद मो. शाकिब जी।

Reply
Avatar
Laxmansingh मार्च 19, 2018 - 5:19 अपराह्न

Nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मार्च 21, 2018 - 7:42 अपराह्न

Thanks Laxman Singh Ji…..

Reply
Avatar
ChandRehnuma मार्च 9, 2018 - 7:00 अपराह्न

I am very impresd your thoght..and ilove you sir ji.. Apki shayri hame bahut bahut bahut pasand aai…

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मार्च 9, 2018 - 7:48 अपराह्न

धन्यवाद चाँद रहनुमा जी……

Reply
Avatar
अर्जुन बघेल फ़रवरी 19, 2018 - 7:05 पूर्वाह्न

सुप्रभात
संदीप जी ,

आपकी मोटिवेशनल कविताएं और शायरियां बहुत अच्छी लगी , उन कविताओं को पढ़कर हमे जीवन मे आगे बढ़ने और अपने लक्ष्य के प्रति समर्पित होने का साहस मिला
बहुत बहुत धन्यवाद आपका
—अर्जुन बघेल

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh फ़रवरी 19, 2018 - 7:22 पूर्वाह्न

शुभ प्रभात अर्जुन बघेल जी।

Reply
Avatar
ishwar chand जनवरी 15, 2018 - 6:51 पूर्वाह्न

Kya tareef kre sir ki mere pass alfaj nhi hai mai aapka shukragujar hu sir ek nayi soch ek nayi disha dene ke lia

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 15, 2018 - 1:12 अपराह्न

धन्यवाद ईश्वर चंद जी।

Reply
Avatar
PRAKASH KUMAR RAUSHAN जनवरी 10, 2018 - 12:20 पूर्वाह्न

Wow bahut hi achchhi post hai aapki…….
Sandeep g…..
Bahut hi jyada achchha laga…..
Mera contect number…. +9172********
Main aapse baat karna chahata hu…..kya aap mere no pe contect kar sakte hain….
Mera…link..
www.prakashraushan.blogspot.com

Mera whatsapp no bhi yahi hai…+9172********

Aapka whatsapp no kya hai…..
Email pe send kar dijiyega plzzz…..

Riyally ye post aapka abhut hi jyada achchha hai…..

Aage bhi esi tarah se likhte rahiye….
God bless you….sandeep g….

Bye……thank's take care…

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 10, 2018 - 8:12 पूर्वाह्न

धन्यवाद प्रकाश जी। मैं आपसे संपर्क करूँगा। मैंने आपका नंबर यहाँ से हटा दिया है। कभी भी सार्वजनिक तौर पर अपना नंबर कहीं न लिखें। आप ईमेल के जरिये भी कांटेक्ट कर सकते हैं। धन्यवाद।

Reply
Avatar
sawai jangid नवम्बर 19, 2017 - 5:45 पूर्वाह्न

Mera nam Sawai jangid from . Barmer
Me apki shayria bhut pansand karta hu .. apki shayria bhot josli hai .. apki shayri padte hi motivate ho jate… l love .. I like

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 20, 2017 - 6:18 अपराह्न

sawai jangid जी हमारा लिखना अगर आप पाठकों को पसंद अत है और आपको जीवन में आगे बढ़ने में सहायता करता है तो ये हामरे लिए बहुत गर्व की बात है। आगे भी ऐसी ही रचनाएँ पढ़ने के लिए हमारे साथ बने रहें। धन्यवाद।

Reply
Avatar
Vik dubey दिसम्बर 12, 2017 - 9:15 अपराह्न

Superb sir

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh दिसम्बर 12, 2017 - 9:50 अपराह्न

धन्यवाद Vik Dubey जी…

Reply
Avatar
mohit yadav नवम्बर 3, 2017 - 5:13 अपराह्न

Aji gazb bhai ji ?

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 3, 2017 - 8:00 अपराह्न

बहुत-बहुत शुक्रिया मोहित जी।

Reply
Avatar
Mohd shahnajer malik सितम्बर 22, 2017 - 4:01 अपराह्न

Baht achhe vichar and sayari h mujhe bahu achha laga

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh सितम्बर 22, 2017 - 9:57 अपराह्न

Thanks mohd Shahnajer malik ji….

Reply
Avatar
लखन लाल आर्य अगस्त 3, 2017 - 3:27 अपराह्न

उत्तम

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अगस्त 4, 2017 - 9:34 पूर्वाह्न

धन्यवाद लखन लाल आर्य जी…..

Reply
Avatar
renu singhal जून 30, 2017 - 11:59 अपराह्न

hello sandeepji ,
मेरा नाम रेनू सिंघल है | मै कई दिनों से हिंदी मे ब्लॉग सर्च कर रही थी कि कैसे लिखते है या बनाते हैं ? तो आज मैंने आपका ब्लॉग पढ़ा बहुत अच्छा लगा | मुझे कहानियां, कविताएँ, शायरियां, लेख किसी भी टॉपिक पर , जीवन को प्रेरणा देने वाले विचार लिखने का शौक है | मैं इस समय अपनी खुद की पहचान बनाने के लिए संघर्ष कर रही हूँ| जिन्दगी का एक लम्बा समय जिन अपनों के लिए समर्पित कर दिया उन्ही लोगों ने मेरा अपमान करके मेरे अस्तित्व पर ऊँगली उठाई है | कुछ समय के लिए तो मैं हताश सी हो गयी की क्या करूं ? फिर मेरा जो लिखने का शौक था उसी दिशा मे काम करने की ठानी है | अभी २०१७ जनवरी से मैंने yourstoryclub.com पर अपनी कुछ कहानियां और कविताएँ पोस्ट की हैं जो पब्लिश भी हुई है तो थोडा हौसला बढ़ा | पर मैं इस समय आर्थिक संकट के दौर से गुजर रही हूँ | तो मैं ये जानना चाहती हूँ कि क्या आपके ब्लॉग पर अपनी कहानियां और कविताएँ पोस्ट कर सकती हूँ ? मैंने खुद का पेज भी बनाया है " काव्य अनुभूति " नाम से जिस पर मेरी लिखी कहानियां और कविताएँ , लेख आदि पोस्ट की हुई है | पर लोगों तक ज्यादा से ज्यादा कैसे पहुचें ये नहीं समझ आ रहा है | पैसे खर्च करने की स्थिति मे नहीं हूँ | कृपया आप कुछ गाइड कर सके तो आपका ब्लॉग पढ़ कर उम्मीद की नयी राह नज़र आ रही है | कृपया आप ये बताये की कैसे आपके ब्लॉग पर अपनी रचनाये भेजूं |

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जुलाई 1, 2017 - 7:49 पूर्वाह्न

Hi Renu, we will help you as best as we can, please contact us through mail(at blogapratim@gmail.com) or via fb page.
Thanks.

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.