Home शायरी की डायरी जिंदगी पर शायरी – जिंदगी के अलग-अलग रंग बताती शायरियाँ

जिंदगी पर शायरी – जिंदगी के अलग-अलग रंग बताती शायरियाँ

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

‘ जिंदगी पर शायरी ‘ शायरी संग्रह के साथ एक बार फिर हम आप सबके सामने हैं दोस्तों आशा करता हूँ आपको पिछले शायरी संग्रह की तरह यह शायरी संग्रह भी पसंद आएगा।

कहीं दर्द तो कहीं खुशियाँ, कहीं है आसमान और कहीं हैं जमीन,
कभी खट्टी तो कभी मीठी है, ये जिंदगी है बड़ी हसीन।

दोस्तों जिंदगी बड़ी ही अजीब है। किस पल क्या हो जाए कोई नहीं कह सकता लेकिन बीते हुए पलों से हर कोई जिंदगी के बारे में अपने विचार बता सकता है। ऐसा ही कुछ प्रयास मैंने भी किया है। जिंदगी के अलग-अलग पलों को मैंने इस शायरी संग्रह में उतारने की कोशिश की है। किसी एक पल को मुख्य रख कर नहीं जिंदगी के हर पल को इस शायरी संग्रह में संजोने की कोशिश की है। तो आइये पढ़ते हैं शायरी संग्रह’ जिंदगी पर शायरी ‘ :-

जिंदगी पर शायरी

जिंदगी पर शायरी

1.
न कोई नियम न क़ानून है, बस आगे बढ़ने का ही जुनून है,
तू कितनी भी रुकावटें डाल-ए-जिंदगी,
हम न रुकेंगे जब तक हमारी रगों में उबलता खून है।


2.
गम, दर्द, हर्ष, उल्लास तो इसके जाम हैं,
हर शख्स के लिए जाल बिछाना इसका काम है,
हर कोई चाहता है कि बना रहे इसका साथ,
मगर साथ छोड़ देती है ये, जिंदगी जिसका नाम है।


3.
मिली है जिंदगी तो शान से जीते हैं,
खुशियों के जाम हर शाम को पीते हैं,
चेहरे पर मुस्कान देख कर धोखा मत खा जाना
कुछ जख्म भी हैं किस्मत में जिन्हें हम रोज सीते हैं।


4.
जिंदगी के किस्से में न जाने कब मोड़ आता है,
वक़्त आता है तो पत्थर भी पिघल जाता है,
अपने हौसलों और जज्बों को बनाये रखना
जितना संघर्ष हो हुनर उतना ही निखर जाता है।


5.
कभी न बुझती है वो प्यास है जिंदगी
निराशा को मिटाती एक आस है जिंदगी,
मिल जाती है खुशियाँ किसी को जहाँ भर की
तो किसी के लिए हर पल उदास है जिंदगी।


6.
कुछ रो के गुजरी है, कुछ हंस के गुजरी है,
कभी सुलझी सी रही तो कुछ कशमकश में गुजरी है।


7.
आगे बढ़ने की जिद, जिंदगी में सबको भगा रही है,
सपनों में दौड़ने वालों को, जिंदगी की ठोकरें जगा रहीं हैं।


8.
डूबे हुए से हैं मझधार में, न कश्ती है न सहारा मिलता है,
जिंदगी के इस समंदर में बस मौत ही एक किनारा मिलता है।


9.
तेरा दिया जख्म आज भी नासूर क्यों है?
मुझको बता ए जिंदगी मेरा कसूर क्या है?
पल भर की ख़ुशी देके ताउम्र गम दिए,
कुछ तो समझ में आये, तेरा दस्तूर क्या है?


10.
डूबे हुए से रहते हैं
न कश्ती मिलती है न किनारा मिलता है,
एक ऐसा समंदर हैं जिंदगी
जहाँ मौत ही किनारा मिलता है।


11.
न जी ही पा रहे है, न मौत ही है आती
न जाने दिल में ये कैसी ख्वाहिशें हैं जागी,
ये जिंदगी की राहें हैं, गुमशुदा सी जैसे
न जाने मेरी खुशियाँ है किस ओर को भागी।


12.
न गम रहा कोई न कोई दर्द ही आज है
हर पल अब तो खुशियों का आगाज़ है,
सीख लिया है जब से धोखे और झूठ का खेल
तब से हर पल जिंदगी का हमारा खुशमिजाज है।


13.
जरूरत तक ही अपना बना कर रखती है
वक़्त आने पर ये दुनिया विश्वास तोड़ देती है,
बेवफा तो ये जिंदगी भी है यारों
मौत आने पर ये भी साथ छोड़ देती है।


14.
परेशानियों का हर लम्हा खुशियाँ लूटता है,
जिंदगी ख्वाब है ऐसा जो मौत आने पर ही टूटता है।


15.
दिल में जो दर्द है उसकी आवाज नहीं आती
लबों पे तुमसे मिलने की फ़रियाद नहीं आती,
जबसे सिखा दिया तुमने जिंदगी जीने का अंदाज हमें
आँख भर तो जाती है मगर बह नहीं पाती।

आपको यह शायरी संग्रह ‘ शायरी जिंदगी पर ‘ ( Zindagi Par Shayari ) कैसा लगा हमें अपने विचार अवश्य बताएं। आपके विचार हमारे लिए बहुमूल्य हैं। धन्यवाद्।

पढ़िए जिंदगी पर ये बेहतरीन शायरी संग्रह :-

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

16 comments

Avatar
Shiva garg April 15, 2020 - 9:37 PM

aap ne bahut shandar bate likhi hai jivan ke bare me bahut Kam sabdo me aapne jivan ke har pal ko likha hai very nice all point ????????????????

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh April 15, 2020 - 9:48 PM

Thank you very Much Shiva ji

Reply
Avatar
Mahesh kumar Tirkey February 7, 2020 - 11:12 AM

आपके शायरी में जिन्दगी के हर पहलू झलकते हैं beautiful collection keep it up sir

Reply
Avatar
innakansara January 31, 2020 - 9:43 PM

Sir you amazingly beautiful writer & a poet. heads off sir????????❤️

Reply
Avatar
ayana January 14, 2020 - 12:47 PM

nice poem and blog .

Reply
Avatar
Nikita jha August 31, 2019 - 2:29 PM

???????? superb

Reply
Avatar
Praveen March 30, 2019 - 6:48 AM

शानदार

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh April 2, 2019 - 1:21 AM

धन्यवाद प्रवीण जी।

Reply
Avatar
Veena February 9, 2019 - 6:19 AM

Very nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh February 14, 2019 - 7:06 PM

Thanks Veena ji…

Reply
Avatar
निशा कुमारी September 19, 2018 - 9:06 PM

बहुत अच्छा कविता है
कोई ऐसा कविता व पोस्ट कीजियेगा जो डिप्रेशन में डूबे स्टूडेंट्स को ज़िन्दगी का मतलब बातये

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh September 20, 2018 - 9:22 PM

अपने विचार देने के लिए धन्यवाद निशा जी। हम प्रयास करेंगे कि जल्द ही तनाव में जी रहे लोगों के लिए प्रेरणादायक कविता लेकर आयेंगे। इसी तरह अपने विचार देते रहें।

Reply
Avatar
Hiralal October 21, 2017 - 2:55 PM

Sir,
Nice poem and Nice blog.

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh October 21, 2017 - 3:18 PM

Thanks you very much Hiralal ji….

Reply
Avatar
AMBER CHOUKSEY February 23, 2017 - 1:35 PM

आपके blogs और posts हमेशा ही अच्छे लगते है ।
जय माता की ।।
मिस्टर Sky

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh February 23, 2017 - 2:23 PM

धन्यवाद AMBER CHOUKSEY जी…. बस प्यार है आप जैसे पाठकों का जो हर पोस्ट को बढ़िया बना देता है।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More