Home » शायरी की डायरी » Waqt Shayari | Time Shayari | वक्त पर शायरी | Waqt Quotes In Hindi

Waqt Shayari | Time Shayari | वक्त पर शायरी | Waqt Quotes In Hindi

by Sandeep Kumar Singh
12 comments

Waqt Shayari वक्त, जो हर वक्त चलता रहता है। गर्मी-सर्दी, दिन-रात आदि का इस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। ये अपनी रफ़्तार से लगातार चलता रहता है। ऐसा भी नहीं है कि कोई इस से आगे निकल जाए लेकिन अगर पीछे छूट गए तो ये आपकी गलती है। बीता हुआ वक्त वापस आता है लेकिन अपने साथ बहुत सी चीजें बदल देता है। कई फिल्मों में तो आपने डायलाग भी सुना होगा, “आज फिर वही वक्त आया है बस किरदार बदल गए हैं।” बस इस शायरी संग्रह का शीर्षक ‘ वक्त पर शायरी ‘ ( Time Shayari ) भी वक्त से ही सम्बंधित है। तो आइये पढ़ते हैं :-

Waqt Shayari
वक्त पर शायरी

वक्त पर शायरी

1.

कभी मिली खुशियाँ कभी ग़मों का सैलाब मिला
रिश्तों की भरमार थी पर कोई अपना न दिखा,
जिंदगी में दौड़ लगी थी आगे बढ़ने की हर तरफ
मिल रहा था वही सबको जो था वक्त ने लिखा।

2.
वक्त वक्त की बात है शायरी

कभी हाथों में उसका हाथ था
जिंदगी में उसका प्यारा सा साथ था,
आज बदल गए हैं दिन और बिखरे जज़्बात हैं
वो भी वक्त की बात थी ये भी वक्त की बात है।

3.

बीते वक्त को याद कर यूँ अश्क न बहाया कर
अपने दिल पर लगे जख्म सबको न दिखाया कर
ये जो चल रहा है वक्त कुछ कर गुजर इसमें
पानी है मंजिल तो मेहनत से न घबराया कर।

4.

वक्त ही कहाँ है किस्मत को अजमाने के लिए
वक्त से ही दौड़ लगा रहे हैं वक्त को पाने के लिए।

5.
वक्त और हालात शायरी

वक्त ने फंसाया है, लेकिन मैं परेशान नहीं हूँ
हालातों से हार जाऊं मैं वो इन्सान नहीं हूँ।

6.

हार जाते हैं वो जो वक़्त के आगे
घुटने टेक दिया करते हैं,
जीत उन्हीं की होती है जो बहानों के
लिबासों को उतार फेंक दिया करते हैं।

7.

ये जरूरी नहीं कि वक्त के हाथों
हर दफा जफा हो,
कई मजबूरियां भी होती हैं किसी की
हर शख्स बेवफा नहीं होता।

8.

चलो मान लिया कि तुम याद करते हो
मगर इस तरह क्यों अपना वक़्त बर्बाद करते हो।

9.
अपनो को बदलने पर शायरी

कुछ लोग वक्त के नहीं अपनों के सताए होते हैं
अपने ही अहसास दिलाते हैं पराया होने का
पराये तो पराये होते हैं।


पढ़िए :- समय का महत्व बताता हिंदी नाटक “मेरा तो वक़्त ही ख़राब है”


10.

दौर भी बदलेगा और लब भी मुस्कुराएँगे
वक्त के फ़रिश्ते जब खुशियाँ लेकर आयेंगे।

11.

दिल को उदास करने जब तन्हाई आती है
वक्त गुजर जाता है बस यादें साथ निभाती हैं।

12.
गुजरे वक्त पर शायरी

कभी मचलता था ये दिल आज कल सुधर गया है,
जबसे जिंदगी का अच्छा वक्त गुजर गया है।

13.

मोहब्बत के भी अपने दायरे हैं हुजूर
वक्त अच्छा हो तो बेपनाह मिलती है
वर्ना ये तन्हाई में तनहा तड़पती है।

14.

आगे वही बढ़ पायेगा
जो जिंदगी को अपने हिसाब से चलाएगा,
कौन रहेगा मैदान में कौन बाजी हारेगा
किसमें है कितना दम अब ये वक्त बताएगा।

15.

अब वक्त की कोई भी चाल न चल पाएगी,
मेरी जिद और मेरी कोशिशों से हर स्थिति बदल जायेगी।

16.

आगे तुम्हीं को बढ़ना है नियति का यही इशारा है
ये हालात तुम्हारे हैं ये संघर्ष भी तुम्हारा है
तुम्हें खुद ही बदलना होगा सब क्योंकि
ये जिंदगी तुम्हारी है और ये वक्त भी तुम्हारा है।

17.

सो रही है दुनिया
बस एक सपनों का तलबगार जाग रहा है,
दिन भी छोटे और रातें भी छोटी लगती हैं
वक्त जैसे जिंदगी से भी तेज भाग रहा है।

18.

दुनिया समझती है बेकार जिसे
वो खोटा सिक्का भी एक दिन चल जायेगा,
मंजिल चुन कर बढ़ चुका हूँ मैं
हौसले बढ़ रहे हैं मेरे वक्त भी बदल जायेगा।

19.
Time Shayari

बिना रुके जो जीवन में
मेहनत करता जाएगा
सारी दुनिया देखेगी जब
Time उसका आएगा।

20.
मुश्किल वक्त शायरी

धीरे-धीरे सब कुछ
संवर जाता है,
वक़्त कितना भी मुश्किल हो
गुज़र जाता है।

21.
समय के बदलाव पर शायरी

संघर्ष की राहों पर चल कर
इंसान सफल हो जाता है,
विश्वास जो होता है खुद में
तो समय बदल ही जाता है।

22.
आज के दिन की शायरी

बीते कल में जो मेहनत करता
आज उसी का होता है,
वक़्त आने पर दुनिया में
राज उसी का होता है ।

23.
समय का खेल शायरी

मिले सफलता तभी जो होता
किस्मत कर्म का मेल,
यही ज्ञान है जीवन का
यही समय का खेल।

24.
Samay Par Shayari

दया करें इन्सान बस, समय न करता माफ़ ।
दे करनी का फल सदा, करता है इंसाफ।।

25.
खराब समय पर शायरी

ऊपरवाले के यहाँ
सबके हिसाब होते हैं,
समय कभी ख़राब नहीं होता
हमारे कर्म ख़राब होते हैं

Waqt Shayari का विडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :-

Waqt Par Shayari | वक़्त शायरी | Time Shayari | समय पर शायरी

आपको यह शायरी संग्रह ( Waqt Shayari ) ‘ वक्त पर शायरी ‘ कैसा लगा ? कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमें अवश्य बतायें।

पढ़िए वक़्त या समय से सम्बंधित अप्रतिम ब्लॉग की ये बेहतरीन रचनाएं :-

धन्यवाद।

You may also like

12 comments

Avatar
Puja mishra मार्च 14, 2019 - 10:37 अपराह्न

Behtarin shayri ki h aapne

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मार्च 15, 2019 - 4:35 अपराह्न

धन्यवाद पूजा मिश्रा जी….

Reply
Avatar
Neha sachan मार्च 8, 2019 - 8:03 अपराह्न

Mr. Genius aapki shayri bahut hi gahere aarth wali hain…very nice keep it up

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मार्च 8, 2019 - 8:18 अपराह्न

Thank You very much Neha Sachan ji…..

Reply
Avatar
Anuj sharma फ़रवरी 13, 2019 - 9:45 पूर्वाह्न

lovely

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh फ़रवरी 14, 2019 - 7:07 अपराह्न

Thanks Anuj Sharma ji..

Reply
Avatar
Ganesh Ghawat दिसम्बर 26, 2018 - 7:28 पूर्वाह्न

Very good Thoughts

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh दिसम्बर 31, 2018 - 2:55 अपराह्न

Thanks Ganesh Ghawat ji….

Reply
Avatar
Manish Jariya नवम्बर 11, 2018 - 6:54 पूर्वाह्न

जय हो

Reply
Avatar
Ashok नवम्बर 4, 2018 - 7:52 पूर्वाह्न

Very nice lines

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 4, 2018 - 7:33 अपराह्न

धन्यवाद अशोक जी।

Reply
Avatar
Aryan सितम्बर 1, 2018 - 3:40 अपराह्न

Classic collection
waqt ka kaam hai guzarna guzar jayenga
Hame abhi hai kuch karna waqt dobara na aayenga

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.