Home » हास्य » हास्य कहानी और नाटक » शराबियों के मजेदार किस्से | मजेदार हास्य किस्से और कहानियाँ – 2

शराबियों के मजेदार किस्से | मजेदार हास्य किस्से और कहानियाँ – 2

by Chandan Bais
3 comments

मजेदार हास्य किस्से और कहानियाँ – 2 । इस बार पढ़े शराबियों के मजेदार किस्से, कहानियाँ और चुटकुले।

शराबियों के मजेदार किस्से

१. शराबी सब्जी विक्रेता

समारू राम सब्जी मंडी से सब्जियाँ लाके गाँव की मार्किट में बेंचा करता था। एक दिन वो मंडी से अपने XL सुपर(एक तरह का दोपहिया वाहन) में दो केरेट सब्जी पिछली सीट पर और दो बोरी में सब्जियाँ गाड़ी के आजू-बाजु लटका के ला रहा था। और उसने आज  कुछ ज्यादा ही चढ़ा रखी थी

जैसे तैसे तो वो गाड़ी को लहराते हुए चलाते आ रहा था। लेकिन उसकी चेतना ज्यादा देर तक साथ नहीं दे पाई, और एक जगह वो गिर पड़ा। गाड़ी की रफ़्तार धीमी होने के कारन चोट तो उसे नहीं आई लेकिन उसकी सब्जियाँ सड़क पर बिखर गयी।

आसपास के दुकानदारों ने उन्हें देखा तो उसकी तरफ दौड़ पड़े, किसी ने समारू को उठाया किसी ने उसकी सुपर XL को और कुछ उसके सब्जियों को बिनने लगे। इस तरह लोगों ने मिलके उसकी हालात दुरुस्त की। लेकिन वो इतने नशे में था की ठीक से खड़ा भी नहीं हो पा रहा था।

एक दुकानदार ने उसके गाड़ी को चालू करके समारू को गाड़ी पर बैठाया। समारू ने जैसे ही गाड़ी भगानी शुरू की दो-तीन मीटर दूर जाते ही फिर गिर पड़ा। पहले जितने लोग मदद के लिए आये थे उन में से आधे लोग वापस जा चुके थे। सिर्फ दो-तीन ही बचे थे।

इस बार उन लोगों ने फिर से गाड़ी उठाई, सब्जी उठाई, फिर समारू को थोड़ी देर रुक जाने के लिए कहा, लेकिन समारू गाड़ी को छोड़ने के लिए राजी न था। उसने बड़े रौब से कहा कि वो बड़े आराम से चल देगा। लोगों ने उसे गाड़ी थमा थी और वहां से चल दिए।

समारू २-४ मिनट गाड़ी में बैठा बड़बड़ाता रहा। कुछ मिनटों बाद उसने एक्सेलरेटर घुमाया और गाड़ी चला दी। इस बार वो मुश्किल से २ या ३ मीटर गया होगा और फिर से गिर गया। देखने वालो और बाकी दुकानदारों ने सोचा ये बेवड़ा मानेगा नहीं इसके चक्कर में हमारे काम का नुकसान हो रहा है।

इस बार कोई नहीं गया उसे उठाने। उस वक़्त उधर से एक कार गुजर रही थी। कार वाला अपनी कार साइड में रोक कर कार से निकला और समारू की मदद करने लगा। उसने पहले तो उसकी गाड़ी उठाई फिर सब्जियां और फिर समारू को उसपे बिठाया। उसके बाद वो वहाँ से चला गया।

समारू पुनः अपनी गाड़ी पे बैठा था। धीमे से इस बार भी चलानी चाही लेकिन गाड़ी जैसे उसके काबू से बाहर होने लगी इस बार वो गिरा तो नहीं लेकिन गाड़ी संभली नहीं और हौले हौले हिचकोले खाते हुए जमीन पे लेट गया। अब समारू का दिमाग घूम चुका था। उसने थोड़ी देर खड़े-खड़े गाड़ी को देखा, जो जमीन पर पड़ी थी।

उसके बाद दो बैंगन बोरी से निकाले। और गाड़ी की ओर देख के चिल्लाया
“साली बेईमान मुझसे दुश्मनी करेगी मेरा बात नहीं मानेगी”
और दोनों बैगन गाड़ी पर दे मारे। उसके बाद थोड़ी देर फिर बड़बड़ाया और फिर चिल्लाया,
“कमीनी मैंने तुझे पेट्रोल पिलाया, तुझे पाला पोसा और आज मुझे बीच मझधार में धोखा दे रही है।”
और इस तरस से कई लाते उसपे बरसाने लगा। पूरा गुस्सा उतार लेने के बाद अब वो पैदल घर की तरफ चलने लगा था…

२. शराबी दोस्त

एक गांव में 2 दोस्त रहा करते थे ! एक बापू और दूसरा पटेल ….

पटेल बहुत मेहनती था लेकिन बापू पूरा दिन शराब पीता…
पटेल जब भी बापू के यहां जाता बापू शराब पीकर टुन्न रहता..
पटेल काम की तलाश में शहर चला गया…..

कुछ अरसे के बाद वो एक नई साईकिल लेके बापू के यहां पहुंचा…
बापू उस समय भी शराब पी रहा था..
पटेल ने बापू को बहुत समझाया कि शराब पीना छोड़ और मेरे साथ शहर चल….
बापू राजी नहीं होते थे .
पटेल फिर शहर चला गया…

5 साल बाद पटेल नया स्कूटर लेकर गांव आया…और सीधा बापू के यहां पहुंचा
बापू अब भी शराब पी रहे थे ..
पटेल ने उसे फिर समझाया…
बापू नहीं माने ..
पटेल फिर से शहर चला गया..

10 साल बाद पटेल फिर गांव आया इस बार वो नई ऑडी कार में आया….और सीधा बापू के घर गया….
बापू घर पर नहीं थे ..
पटेल ने गांव वालों से पूछा….लोगों ने बताया बापू गांव से बाहर एक खेत पर मिलेंगे….
पटेल खेत पर पहुंचा….और देखा बापू अब भी शराब पी रहा है…..
तभी उसकी नजर वहां खड़े हैलीकोप्टर पर पड़ी…

उसने बापू से पूछा ये किसका है…
बापू :- यार शराब पीते पीते घर पर बहुत सारी खाली बोतल जमा हो गई थी …….
उन्हीं को बेच कर ये हैलीकोप्टर
और
पार्किंग के लिये ये खेत खरीद लिया…

पटेल आज तक कोमा में है…..

ये भी आपको पसंद आयेंगे:

You may also like

3 comments

Avatar
CHANDAN CHAMPION सितम्बर 27, 2019 - 2:25 अपराह्न

Nice story and funny

Reply
Avatar
shivam मई 27, 2018 - 8:58 पूर्वाह्न

bhai ek kar sakte ho main youtube me video banata hu vines ki uske liye ,mujhe koi story nahi mil rahi hai isliye koi story bataoge likh kar
agar aapke pass kuch ho to plz contact kare deepansuftp@gmail.com pe plz

Reply
Avatar
rakesh अगस्त 7, 2017 - 7:55 पूर्वाह्न

nice

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.