Home रोचक जानकारियां जिंदगी जीने का नया अंदाज – Self Improvement With ‘WWH’

जिंदगी जीने का नया अंदाज – Self Improvement With ‘WWH’

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

नमस्कार मित्रों, आज मैं अपने जिंदगी के अनुभवों से सीखे कुछ गुण आपको बताना चाहता हूँ। जो आपको Self Improvement करने और जिन्दगी जीने का तरीका देंगे, जिससे आप जीने का नया अंदाज सीख पाएँगे।

जिंदगी जीने का नया अंदाज

जिंदगी जीने का नया अंदाज

अपनी जिंदगी में रोज हमारा सामना किसी ना किसी चीज से होता है। कुछ चीजें हमें खुशियां देती हैं और कुछ चीजें उदास कर देती हैं। खुशियों और ग़मों का दौर यूँ ही चलता रहता है। दुनिया में लोगों की भीड़ में कई लोग ऐसे होते हैं जो साधारण जीवन को नकार कर कुछ अलग करते हैं, और समाज में अपनी अलग पहचान बनाते हैं।

उनके जिंदगी जीने का नया अंदाज होता है। बाकी दुनिया उन लोगों की दीवानी हो जाती है। और उन्हें बुलंदियों पर पंहुचा देते हैं। और कई लोग बहुत प्रयास करने के बाद भी अपनी जिंदगी नहीं बदल पाते। क्योंकि वो अपना जीवन तो बदलना चाहते हैं पर उन्हें यह नही पता की वो चीज क्या है जो जिंदगी बदलती है?

इस सवाल का जवाब “WWH” फार्मूला में है। परंतु इस फार्मुले को अपनाने से पहले जो सबसे ज्यादा जरुरी वस्तु है वो है, इंसान का सकारात्मक (Optimistic) होना। जब तक इंसान सकारात्मक (Optimistic) नहीं होता उसकी जिंदगी में नकारात्मक (pessimistic) बदलाव ही होते हैं।

अब बात ये आती है की इंसान सकारात्मक(Optimistic) हो तो कैसे हो। इसक सवाल का जवाब अकसर ही नहीं मिल पाता क्योंकि जरा सी परेशानी आने पर इंसानी दिमाग नकारात्मक(pessimistic) हो जाता है। इसलिए नकारात्मक (pessimistic) विचारों से मुक्ति मिलने के बाद ही हम अपने जीवन को बदल सकते हैं। सवाल ये है की हम इन नकारात्मक(pessimistic)  विचारों से मुक्ति पाएं तो कैसे?

अपने निजी अनुभवों से मैंने कुछ तथ्य निकाले हैं और अपनी जिंदगी में इनका सकारात्मक (optimistic) असर भी देखा है।

1. अध्यात्म से जुड़ना :-

इसका सबसे सरल(easy) उपाय है अध्यात्म से जुड़ना। धार्मिक गतिविधियों से जुड़ कर हमारा मस्तिष्क एक अलग सी अनुभूति करता है और नकारात्मक(pessimistic) विचारों से दूर होने लगता है। अध्यात्म के बारे में जानकारी हासिल करते हुए हमें अच्छी बातें ही जानने को मिलती हैं और भगवान में हमारी आस्था बढ़ जाती है। जिसके बाद हम ऐसे काम करने लगते हैं जैसे कोई अद्भुत शक्ति हमारे पास है और हम अपना 100% से भी ज्यादा ध्यान अपने काम में देते हैं और काम के असफल होने की कल्पना भी नहीं करते। इसी कारण हम वो कार्य भी कर  लेते हैं जो देखने में असंभव लगते हैं।



2. जुनून(Passion) :-

जुनून(Passion) एक ऐसी चीज है जो इंसान को फर्श(Floor) से अर्श(sky) पर ले जाता है। अगर ये अच्छे काम के लिए हो। यदि यही जुनून(Passion) किसी बुरी वस्तु के लिए हो तो इंसान को बर्बाद कर देता है। किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने का जुनून(Passion) जब सर पे चढ़ जाता है, तो दिन-रात उस व्यक्ति को बस अपना लक्ष्य(Target) ही दिखाई पड़ता है। उसका ध्यान दुनिया से दूर हो जाता है और वह अपने लक्ष्य(Target) की ओर तेजी से बढ़ने लगता है। उसके मन से सब नकारात्मक(pessimistic)  विचार निकल जाते हैं। कुछ बाकी रहता है तो बस सद्विचार और संयम।

“जवानी है तो रगों में उबलता खून रखो,
कुछ पाना है जिंदगी में तो सर पे जुनून रखो।”

3. सकारात्मक (optimistic) बनने की कोशिश करना :-

हमें सदा ही सकारात्मक (optimistic) बनने की कोशिश करनी चाहिए। हो सकता है कुछ लोगों को लगता हो की ऐसा करना मुश्किल या असंभव है। परंतु इस जगत में तब तक कुछ भी कठिन या नामुमकिन नहीं है जब तक हम खुद स्वीकार ना कर लें। अगर हम विषम परिस्थितियों से गुजर रहे हैं तो आगे चल कर तीन रास्ते मिलते हैं। एक रास्ता हमें अंधकार की तरफ धकेलता है, दूसरा रास्ता हमें इसी तरह की परेशानियां दिखता रहता है और तीसरा रास्ता हमारी जिंदगी को खुशियों से भर देता है। इन रास्तों को हम ही चुनते हैं।

पहले रास्ते को हम तब चुनते है जब हम विषम परिस्थितियों में नकारात्मक(pessimistic) विचारों को ग्रहण कर लेते हैं। फिर हम ऐसे अंधकार की तरफ बढ़ जाते हैं जहाँ से निकलना मुश्किल हो जाता है और हमारा जीवन लगभग समाप्त हो जाता है।

दूसरा रास्ता वो होता है जब हम सब कुछ भगवान पर छोड़ देते हैं और स्वयं कुछ नहीं करते। उस स्थिति में हमारा जीवन दूसरे रास्ते पर चल पड़ता है और हम घुट-घुट कर अपना जीवन व्यतीत करते हैं।

जिंदगी जीने वालों के लिए तीसरा रास्ता होता है। इस रास्ते पर वो लोग ही चल पाते जो सकारात्मक (optimistic) विचारों को अपनाते हैं और जिंदगी बदलने की हिम्मत रखते हैं। वो जिंदगी को सुधारने के लिए हर जोखिम उठाते हैं और अपने जीवन को खुशियों से भर देते हैं।

Self Improvement Formula: “WWH”

ये गुण हर इंसान में होने चाहिए। तब ही WWH का फार्मूला जिंदगी में अपनाया जा सकता है। ये WWH है क्या?

WWH है

W – Why(क्यों)

W – What(क्या)

H – How(कैसे)

ये अंग्रेज़ी के तीन ऐसे शब्द हैं जिनको हम अपनी जिंदगी में लाकर अपनी और दूसरों की जिंदगी बदल सकते हैं।

W – Why(क्यों) :-

किसी भी कार्य को करने से पहले, ये सोचना बहुत जरूरी है, की हमें इस बात का ज्ञान हो कि हम ये कार्य क्यों कर रहे हैं। जब तक इस सवाल का जवाब ना पता हो, कोई भी कार्य करना व्यर्थ है। हमें ये जीवन इसलिए नहीं मिला कि हम इसे यूँ ही बिता दें। बल्कि इसलिए मिला है ताकि हम इस जीवन में अच्छे कार्य कर के और अपनी एक अलग पहचान बना कर अपना अस्तित्व सिद्ध कर सकें। वर्ना पृथ्वी पर बहुत से प्राणी हैं। जो दिन रात बस खाने से मतलब रखते हैं। अगर मनुष्य अपनी जिंदगी को सरल बनाने के लिए कुछ नहीं कर पाता तो उसमें व अन्य जीवों में कोई फर्क नहीं रह जाएगा। और ये सब हम तभी कार सकते हैं जब हमे हमारे Why(क्यों) का जवाब मिल जाएगा।

W – What(क्या) :-

Why(क्यों) के बाद आता है What(क्या)। जब हमें इस बात का ज्ञान हो जाता है की हम कोई कार्य क्यों कर रहे हैं, या क्यों करें तो अगला प्रश्न उठता है की उस कार्य को पूर्ण करने के लिए क्या किया जाए। तब What(क्या) काम आता है। जिसका जवाब हमें सही मार्गदर्शन द्वारा ही प्राप्त हो सकता है। हम स्वयं भी अपने मार्गदर्शक बन सकते हैं। परंतु उसके लिए सब से अहम् है हर वस्तु का अध्ययन करना। जब हम Why(क्यों) से आगे निकलते हैं फिर What(क्या) का उत्तर हमे अपने अनुभवों से मिल जाता है। तब आगे आता है की उस कार्य को सही ढंग से कैसे उसके अंजाम तक पहुचाया जाए। वहां शुरुआत होती है How(कैसे) की।

H – How(कैसे) :-

Why और What के बाद आता How(कैसे)। किसी भी कार्य को करने का प्रयोजन और उसे पूर्ण करने के बीच में आती है विधि कि उस कार्य को किस ढंग से पूर्ण किया जाए। सफलता के लिए ये सबसे महत्वपूर्ण है की हमें सही ढंग यानी की How(कैसे) का जवाब पता हो। ऐसा ना होने पर हम एक ऐसी चिड़िया की तरह हो जाएंगे जिसे ये तो पता होगा की उसे अपनी भूख मिटाने के लिए भोजन की तलाश करनी है  पर उड़ान भरने ना आये। ऐसे समय में वो भूख से तड़प-तड़प कर मर जाएगी। इसी तरह हमें भी अपनी काबिलीयत से कोई भी काम कैसे पूरा करना है इस बात का ज्ञान होना चाहिए।

इस तरह WWH का फार्मूला हम अपनी जिंदगी में अपार सफलता प्राप्त कर सकते हैं। और अपनी Self Improvement करके अपनी  जिंदगी अपने तरीके से जी सकते है। जिंदगी में कुछ भी असंभव नहीं है। अगर कुछ असंभव है तो वो आपकी सोच में है। अगर आपकी सोच सही नहीं होती तो दुनिया के सारे फॉर्मूले बेकार हैं। अंत में यही कहना चहूँगा :-

” कर उजाला तू मेहनत का दिया जला कर, ला मौसम जहाँ सदा बहार रहे,
कर हासिल ऐसा मुकाम इस जहाँ में, तेरे बाद इस दुनिया को भी जिंदगी पर ऐतबार रहे।”

अगर ये  लेख जिंदगी जीने का नया अंदाज आपको पसंद आया तो दूसरों तक भी शेयर करे।

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

23 comments

Avatar
Mohini अप्रैल 9, 2022 - 3:34 अपराह्न

नमस्कार, आप का स्टोरी पढ़ने के बाद कुछ नया सीखने को मिला धन्यवाद यह स्टोरी लिखने के लिए

Reply
Avatar
Motivation Blog नवम्बर 30, 2021 - 11:49 अपराह्न

आपका लेख पढ़ कर नया कुच्छ सीखने को मिला????????

Reply
Avatar
Asmanjas Kumar Singh अप्रैल 23, 2021 - 6:18 अपराह्न

Nice

Reply
Avatar
Asmanjas Kumar Singh अप्रैल 23, 2021 - 6:16 अपराह्न

ऐसी स्टोरी लिखने के लिए आपका धन्यवाद

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अप्रैल 24, 2021 - 10:59 अपराह्न

सराहना करने के लिए धन्यवाद असमंजंस जी….

Reply
Avatar
Azad Pujari फ़रवरी 9, 2021 - 7:49 पूर्वाह्न

एक वक्त में केवल एक ही काम करने से उसकी सफलता के चांस बढ़ जाते हैं

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh फ़रवरी 10, 2021 - 12:40 अपराह्न

Bilkul Sahi baat kahi aapne Azad Pujari Ji…

Reply
Avatar
Dinesh मई 10, 2020 - 11:35 पूर्वाह्न

kya khub lika aapne

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मई 10, 2020 - 3:17 अपराह्न

धन्यवाद दिनेश जी….

Reply
Avatar
Arvind नवम्बर 21, 2019 - 7:17 अपराह्न

Such Mai bahut udas tha kuch karne ka junun aa gya thanku for post article

Reply
Avatar
ganesh negi मार्च 24, 2018 - 8:50 अपराह्न

very nice for this line

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मार्च 25, 2018 - 8:35 पूर्वाह्न

धन्यवाद गणेश नेगी जी।

Reply
Avatar
Laxman अक्टूबर 24, 2017 - 10:52 पूर्वाह्न

Jindagi badlane ke liye sabse best aapka blog hai

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अक्टूबर 24, 2017 - 3:21 अपराह्न

धन्यवाद लक्ष्मण जी।

Reply
Avatar
Laxman अक्टूबर 24, 2017 - 10:51 पूर्वाह्न

जिंदगी बदलने का सबसे जुनुनी प्रयास

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अक्टूबर 24, 2017 - 3:21 अपराह्न

हमेशा जारी रखिये।

Reply
Avatar
aru सितम्बर 17, 2017 - 7:52 अपराह्न

Guru ji apne Bhut hi gajab dhang se likha h,
padkar dil ko sukoon a gya.

Reply
Avatar
Bhishm kumbhkar अगस्त 4, 2017 - 7:55 अपराह्न

Zindgi ko hash kar nahi jiya jata balki
Zindgi main kisi se jhagda mat karo
Shada bindash raho
Gali dena and sunna bhi aachchhi bath nahi hai par zindgi ko jio aash
Ki maja aa jay
Hello Dost mari ishmain yahi ray hsi
All right ठीक है यारो ………

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अगस्त 5, 2017 - 6:12 पूर्वाह्न

Bhishm Kumbhkar जी, आपने बिल्कुल सही कहा। प्यार से रहें तो जिंदगी बहुत आसान है।

Reply
Avatar
Sandeep Kumar जुलाई 13, 2017 - 12:46 अपराह्न

Is tarah ki kahani likhne ke liye apka dhaynwad Sandeep Sir.
Agar kisi ko ya khud hamko Zindagi jeene ka tarika na pata ho
Ya apni Zindagi se pareshan ho to usko kya karna chahiye.
Aur sath me ye bhi baraye ki aap ka Replay hum kaise dekh sakte hai…

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जुलाई 14, 2017 - 9:06 पूर्वाह्न

धन्यवाद आपका भी संदीप जी। जिंदगी जीने का तरीका जानना हो तो आप हमारा
https://apratimblog.com/safalta-ke-mantra-sutra-upay-hunar-jankari-svabhav/
ये आर्टिकल पढ़ें। और रही बात जिंदगी में परेशानियों की तो परेशानियां बस एक जिंदगी का हिस्सा हैं। ये आती जाती रहती हैं। हमें इनसे घबराना नहीं चाहिए। जब तक हम जिंदा हैं हमें किसी चीज से भी हार नहीं माननी चाहिए।

आपको अपने सवालों का जवाब वहीं मिलेगा जिस पोस्ट पर आप सवाल पूछेंगे। बस इसके लिए आपको दुबारा उस पोस्ट पर आना पड़ेगा। और अगर आप हमसे सीधा संपर्क साधना चाहते हैं तो हमें [email protected] पर मेल करें।
धन्यवाद।

Reply
Avatar
Govind Kumar अप्रैल 14, 2017 - 8:05 पूर्वाह्न

Aap ka kahani mujhe bahyt hi acha laga.ise tarah jiss larka ho ya larki usaka duniya main koi na ho uska dukh bhari kahani chahiye prerna milnewali kahani chahiye

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अप्रैल 14, 2017 - 5:14 अपराह्न

Dhanywad Govind Kumar ji… Baat ye hai ki jab bhi Insaan ko jimmedari ka ehsas hota hai to khud wo Insaan aage badh jata hai…

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More