Home रोचक जानकारियां सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां | सूर्य का तापमान , व्यास और पृथ्वी से दूरी

सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां | सूर्य का तापमान , व्यास और पृथ्वी से दूरी

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

ब्रह्माण्ड के अनगिनत तारों में एक तारा सूर्य हमारे सौर मंडल के मध्य में स्थित है। जिस तरह एक परिवार को चलने वाला एक परिवार का एक मुखी होता है उसी तरह हमारे सौर्य मंडल को चलाने वाला मुखी सूर्य है। धरती पर जीवन का मुख्य स्त्रोत सूर्य ही है। सूर्य से ही धरती पर हर प्रकार की शक्ति का अस्तित्व है। यह सौर मंडल में सबसे बड़ा है। सौर मंडल में स्थित सभी चीजें सूर्य के इर्द-गिर्द घूमती हैं। और कितना जानते हैं सूर्य के बारे में आप? सूर्य का व्यास कितना है ? सूर्य के केंद्र का तापमान कितना है ? चलिए आज हम पढ़ते हैं सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां :-

सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां

सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां

1. सूर्य का जन्म 4.6 बिलियन साल पहले हुआ। यह ज्यादातर हाइड्रोजन और हीलियम गैस से बना हुआ है।

2. सूर्य के केंद्र में हर सेकंड 700 मिलियन टन हाइड्रोजन न्यूक्लियर विखंडन के कारण हीलियम में बदल जाता है। जिससे एक ऐसी शक्ति उत्पन्न होती है जिसे फोटोन कहा जाता है। इससे ही सूर्य का प्रकाश बनता है। यह सूर्य के केंद्र में बनता है।

3. सूर्य के केंद्र में बना हुआ प्रकाश रुपी फोटोन कई हजारों और लाखों सालों तक सूर्य के अन्दर ही घूमता रहता है और एक दिन निकल कर मात्र 8.18 मिनट में धरती पर पहुँच जाता है।

Prithvi Se Surya Ki Duri Kitni Hai?

4. धरती की तरह सूर्य पर भी मौसम बदलता है। पृथ्वी के केंद्र से सूर्य के केंद्र की औसत दूरी 150,000,000 किलोमीटर है।

Surya Ka Vyas Kitna Hai
सूर्य का व्यास कितना है?

5. सूर्य का व्यास 1,391,400 कि.मी. है जो कि धरती के व्यास से 109 गुना ज्यादा है।

6. सूर्य धरती से 1,300,000 गुना बड़ा है।

7. 100% सौर मंडल में सूर्य का द्रव्यमान 99.86% है।

8. सूर्य में 73% हाइड्रोजन है और 25% हीलियम के साथ बाकी ऑक्सीजन,निकेल, सिलिकन, सल्फर, मैग्निसियम, कार्बन, नियोन, कैल्सियम, क्रोमियम है।

सूर्य का वजन कितना है?

9. सूर्य का वजन 1.989 × 10^30 कि.ग्रा. है जो कि धरती के वजन से 330,000 गुणा ज्यादा है।

10. सूर्य इतना बड़ा है कि अगर इसे खोखला कर इसमें धरती को डाला जाये तो 1.3 मिलियन धरती इसमें समा जाएँ।

11. एक सेकंड में चमकने वाला सूर्य 1 मिलियन हाइड्रोजन बम जितनी शक्ति छोड़ता है।

12. सूर्य कि गुरुत्वाकर्षण शक्ति के कारण ही सारे ग्रह अपने परिक्रमापथ ( Orbit ) पर घुमते हैं।

13. सूर्य के सबसे उपरी सतह को फोटोस्फीयर ( Photosphere ), बीच वाली सतह को क्रोमोस्फीयर ( Chromosphere ) और सबसे अंदरूनी सतह को कोरोना ( Corona ) कहा जाता है।

14. सूर्य में काले धब्बे हैं जो कि हजारों मील बड़े होते हैं। वहां का तापमान 1000 डिग्री फ़ारेनहाइट होता है। यह सूर्य का सबसे ठंडा हिस्सा होता है। ये ऊपरी सतह पर होते हैं जो आसानी से देखे जा सकते हैं।

15. सूर्य के कृत्रिम ( Artificial ) ग्रहण के अध्ययन को कोर्नोग्राफ ( Cornograph ) कहा जाता है।

16. 2003 में सूर्य ने एक ऐसी शक्ति छोड़ी थी जो 200 बिलियन हाइड्रोजन बम के विस्फोट के बराबर था। इस विस्फोट में बहुत गरम चार्जड कण निकले जिसकी गति 6 मिलियन मील प्रति घंटा थी। यह आज तक का सबसे बड़ा सौर तूफ़ान था। खगोलशास्त्री सुरक्षित यान में चले गए। धरती पर संपर्क के सरे साधन अवरोधित कर दिए गए लेकिन कोई हानि नहीं हुयी।

17. 1973 में Skylab पहला मानव अन्तरिक्ष स्टेशन बना।इसने सूर्य की फोटो धरती पर भेजी। Skylab Mission पहली लेबोरेटरी थी जो सिर्फ सूर्य पर अनुसन्धान के लिए बनाया गया था। इसे आज चलने वाले नए मिशनों का दादा भी कहा जाता है।

18. सूर्य आकाशगंगा में 2000 बिलियन तारों में से एक है। ये हमारे सबसे पास है। यह दूरी है 93मिलियन मील। यह उतनी ही दूरी है जितनी धरती के 4000 चक्कर लगाने पर हो। इतनी दूरी होने के बाद भी सूर्य का प्रकाश बस 8 मिनट 18 सेकंड में धरती पर पहुँच जाता है।

19. सूर्य के संस्कृत में 108 नाम हैं।

20. सूर्य लगातार एक ऐसी शक्ति बनता रहता है जिसे सौर पवन कहते हैं। यह शक्ति पूरे सौर मंडल में फैलती है। यह 9.3 ट्रिलियन मील दूर तक पहुँचती है। जो कि यम ( Pluto ) ग्रह से भी आगे है।

सूर्य का तापमान कितना है?

21. सूर्य के ऊपरी सतह का तापमान 5500 डिग्री सेल्सिअस है। सूर्य के केंद्र में तापमान 15 मिलियन डिग्री सेल्सिअस होता है।

सूर्य के चलने का मार्ग क्या कहलाता है?

22. सूरज के परिक्रमा करने के मार्ग को रविमार्ग  कहते हैं।

23. सूर्य में सारे रंग समाहित हैं परन्तु यह हमें सफ़ेद नजर आता है।

24. एक समय ऐसा आएगा जब सूर्य में मौजूद सारा हाइड्रोजन जल जाएगा। उसके बाद हीलियम जलना आरंभ होगा। इससे सूर्य का आकार बड़ा होता जाएगा और यह इतना बड़ा हो जाएगा कि शुक्र, बुध और धरती को समाप्त कर देगा। यह एक लाल दानव का रूप धारण कर लेगा।



Surya Ki Roshni Ki Gati Kitni Hai?

25. सूर्य के प्रकाश की गति 3,00,000 किलोमीटर प्रति सेकंड होती है।

Surya Ki Gati / सूर्य की गति

26. सूर्य आकाशगंगा का एक चक्कर 225-250 मिलियन वर्ष में पूरा करता है। सूर्य के परिक्रमा करने की गति 251 किलोमीटर प्रति सेकेंड है।

27. सूर्य की आकाशगंगा के केंद्र से दूरी 27,000 प्रकाश वर्ष है।

28. सूर्य का प्रकाश एक वर्ष में 9.5 ट्रिलियन किलोमीटर दूरी तय करता है।

29. पृथ्वी पर हर साल अधिकतम 5 बार सूर्य ग्रहण लगता है। यह ग्रहण 7 मिनट 40 सेकंड्स से लेकर 20 मिनट तक चल सकता है।

30. यदि धरती से 17  प्रकाश वर्ष की दूरी के 50 सबसे ज्यादा चमकने वाले तारों से तुलना की जाए तो सूर्य चौथा सबसे ज्यादा चमकने वाला तारा है।

दोस्तों आपको सूर्य के बारे में 30 रोचक जानकारियां कैसी लगी? हमें अवश्य बतायें। इस जानकारी कोई सोशल साइट्स पर शेयर करें और लोगों कि जानकारी बढ़ाएं। यदि आप भी चाहते हैं कोई ख़ास जानकरी तो हमे अवश्य बतायें। हम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। आप हमारे फेसबुक पेज से जुड़ सकते है।

पढ़िए सौर मंडल से जुड़ी अन्य रोचक जानकारियां :-

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

6 comments

Avatar
Abdul gani sheikh जनवरी 4, 2021 - 2:22 अपराह्न

हमारे देश में पंचांग की गणनाएं अति महत्व का स्थान रखते हैं ।
> पंचांग की गणना में सुर्य और चन्द्र को नक्षत्र एवं राशियों में भ्रमण करते हुए बताया जाता है ।
> चन्द्र की बात तो समझ में आती है की वह 27 दिनों में 12 राशियों में हो आता है ।
> लेकिन सुर्य किस प्रकार से राशियों में जाता है ? वह तो एक स्थान पर केन्द्रित है ।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 31, 2021 - 9:10 अपराह्न

विज्ञान के हिसाब से वह एक स्थान पर केन्द्रित है, परन्तु यदि आप हिन्दुओं की धार्मिक पुस्तकें पढ़ें तो उसमें यह लिखा है कि सूर्य गतिमान है। इतना ही नहीं अगर आप विज्ञान के हिसाब से भी देखें तो सूर्य आकाशगंगा के केंद्र का चक्कर लगा रहा है जो की 250 मिलियन साल में पूरा होता है।

Reply
Avatar
Abdul gani sheikh नवम्बर 14, 2020 - 10:50 अपराह्न

क्या सुर्य का पिछला भाग भी ऐसा ही है जैसा हमारे सामने का भाग है ?

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 27, 2020 - 9:38 अपराह्न

सूर्य भी धरती की तरह गोल है इसलिए उसका अगला पिछला सब कुछ एक जैसा है

Reply
Avatar
Prasenjeet Kachhima जनवरी 22, 2020 - 8:45 अपराह्न

सूर्य का व्यास लगभग 13,91,000 किमी और धरती का व्यास लगभम 12,742 किमी है। यानि सूर्य का व्यास धरती के व्यास से लगभग 109 गुना ज्यादा है, तो सूर्य धरती से 109 गुना ही बड़ा होगा और सूर्य में 109 धरती ही समा सकेंगे।
फिर सूर्य पृथ्वी से 13 लाख गुना बड़ा कैसे और सूर्य में 103 मिलियन यानि 103×10,00,000 = 10,30,00,000 (10 करोड़ 30 लाख) … या 13 लाख पृथ्वी ही कैसे समायेगी?
कृपया स्पष्ट करने की कृपा करें।
Point – 5, 6, 10.

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 23, 2020 - 9:41 अपराह्न

नमस्कार Prasenjeet Kachhima जी,

सबसे पहले आपका धन्यवाद जो आपने पूरा लेख ध्यान से पढ़ा। तो आते हैं आपके पहले सवाल पर

सूर्य का व्यास लगभग 13,91,000 किमी और धरती का व्यास लगभम 12,742 किमी है। यानि सूर्य का व्यास धरती के व्यास से लगभग 109 गुना ज्यादा है, तो सूर्य धरती से 109 गुना ही बड़ा होगा और सूर्य में 109 धरती ही समा सकेंगे।

उत्तर :- मात्र व्यास से आप यह नहीं कह सकते की किस बर्तन में कितना जल आएगा उसके लिए बर्तन का घन निकाला जाता है जिसे अंग्रेजी में Volume कहा जाता है। इसलिए आपका यह प्रश्न ही गलत है।

दूसरा प्रश्न :- फिर सूर्य पृथ्वी से 13 लाख गुना बड़ा कैसे और सूर्य में 103 मिलियन यानि 103×10,00,000 = 10,30,00,000 (10 करोड़ 30 लाख) … या 13 लाख पृथ्वी ही कैसे समायेगी?
उत्तर :- फिर से वही बात कहना चाहूँगा जब आप दोनों का घन ( Volume ) निकालेंगे और सूर्य के घन को धरती के घन से भाग करेंगे तो पाएँगे की उत्तर 1.3 मिलियन आएगा। ऐसे सवाल नौंवीं और दसवीं के बच्चों को करवाए जाते हैं।

इसमें एक गलती थी कि हमने 1.3 मिलियन की जगह 103 मिलियन लिख दिया था। जिसे अब सही कर दिया गया है।

धन्यवाद।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More