Home » हिंदी कविता संग्रह » समय पर कविता :- समय बड़ा बलवान | Samay Poem In Hindi

समय पर कविता :- समय बड़ा बलवान | Samay Poem In Hindi

by Sandeep Kumar Singh

इस संसार में अगर कोई सबसे ज्यादा ताकतवर है तो वो है समय। समय जो किसी राजा को भी भिखारी बना देता है और किसी भिखारी को भी राजा। इसके खेल को कोई आज तक जान नहीं सका है। जो भी इसे जानने या समझने की कोशिश करता है  वो ज्यादातर दुखी ही रहता है। समय के साथ चलने वाला और वर्तमान में इसके साथ रहने वाला ही सुखी रहता है। और क्या है समय की महिमा आइये पढ़ते हैं इस समय पर कविता में :-

समय पर कविता

समय पर कविता

समय बड़ा बलवान रे भाई
समय बड़ा बलवान।

बहती जाती नदिया जैसे
समय भी बहता जाता है
कोई फांके धूल जमीं की
कोई अर्शों पे छा जाता है,
जैसे होते कर्म हैं बनती
वैसी ही पहचान
समय बड़ा बलवान रे भाई
समय बड़ा बलवान।

कोई ऐसा बाँध नहीं जो
रोक सके यह धारा
एक बार जो गया समय
फिर आता नहीं दुबारा,
बहे जो इस धारा संग
बनता वही महान
समय बड़ा बलवान रे भाई
समय बड़ा बलवान।

इसके मन में क्या चलता
ये कोई न जाने राज़
किसी को देता शोहरत
किसी से छीने ताज़,
इसकी नज़र पड़े तो होता
निर्धन भी धनवान
समय बड़ा बलवान रे भाई
समय बड़ा बलवान।

न ही कोई रंग है इसका
न ही कोई जात
आफत किसी की खातिर
किसी की खातिर है सौगात,
भेदभाव है नहीं किसी से
सबको मिले समान
समय बड़ा बलवान रे भाई
समय बड़ा बलवान।

” समय पर कविता ” आपको  कैसी लगी? अपने विचार कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखें।

पढ़िए समय से संबंधित ये बेहतरीन रचनाएं :-

धन्यवाद।

You may also like

2 comments

Avatar
ANANDAKRISHNAN November 30, 2020 - 12:48 PM

आपका नाम शुभ नाम। मैं तमिलनाडु काहिंदी प्रचारक।पांचवीं कक्षा केलिए किताब लिख रहा हूँ। समय की यह कविता जोड़ना चाहता हूँ। आप की अनुमति चाहिए। हम तो हिंदी विरोध वातावरण में हिंदी का प्रचार।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh November 30, 2020 - 1:11 PM

नमस्कार आनंदकृष्णन जी, मेरा नाम संदीप कुमार सिंह है। यह जान कर मुझे बहुत प्रसन्नता हुयी कि आप यह कविता पाठ्य पुस्तक में जोड़ना चाहते हैं। बहुत धन्यवाद आपका।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More