Home » शायरी की डायरी » रिश्तें-मोहब्बत-भावनाएं » रक्षाबंधन पर शायरी | Raksha Bandhan Shayari In Hindi | Rakhi Shayari

रक्षाबंधन पर शायरी | Raksha Bandhan Shayari In Hindi | Rakhi Shayari

by Sandeep Kumar Singh

Raksha Bandhan Shayari In Hindi रिश्ते तो कई होते हैं दुनिया में लेकिन एक रिश्ता बहुत ही खास होता है। ये रिश्ता है भाई और बहन का। भाई और बहन चाहे कितनी ही दूर क्यों न हों। उनके बीच का प्यार कभी कम नहीं होता। माँ के बाद बहन ही होती है जो एक आदमी के लिए हमेशा दुआ मांगती रहती है और उसका ख्याल रखती है। बहन छोटी हो या बड़ी, वो हमेशा भाई का ख्याल रखती है और अपने भाई से बहुत प्यार करती है। वैसे तो भाई-बहन का प्यार सदा बरक़रार रहता है लेकिन एक ऐसा पर्व है जो इस प्यार को कई गुना बाधा देता है वो है रक्षाबंधन का त्यौहार। इसी प्यार के एहसास को मैंने शायरी में प्रस्तुत करने की कोशिश की है। आइये पढ़ते हैं :- ” रक्षाबंधन पर शायरी “

रक्षाबंधन पर शायरी

Raksha Bandhan Shayari In Hindi
रक्षाबंधन पर शायरी

रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर शायरी देखें या राखी पर शायरी नीचे पढ़े :-

रक्षाबंधन पर शायरी | Raksha Bandhan Ki Shayari In Hindi | राखी पर भाई और बहन की शायरी

1.
भाई की कलाई पर राखी बांधे बहना
मांगती है वादा सदा संग ही रहना,
बना रहे यूँ ही रिश्ता बना रहे ये प्यार
सबको मुबारक हो रक्षाबंधन का त्यौहार।


2.
न मांगे वो धन और दौलत, न मांगे उपहार
चाहत बहन की इतनी कि बस बना रहे ये प्यार,
गम न कोई पास में आये खुशियाँ मिले हजार
ऐसा ही सन्देश है लाता राखी का ये त्यौहार
ऐसा ही सन्देश है लाता राखी का ये त्यौहार।


3.
कितने दिनों के बाद
सूनी कलाई पर बहना का प्यार आया है,
सब भाई-बहनों को मुबारक हो
जो ये राखी का त्यौहार आया है।


4.
कलाई पर सजा के राखी
माथे लगा दिया है चंदन,
सावन के पावन मौके पर
सबको हैप्पी रक्षा बंधन।


5.
भाई की खुशियों की खातिर
मांगे बहन दुवाएं
दुःख की घड़ियाँ भाई के
जीवन में कभी न आएं,
बाँध रही है राखी बहना
माथे चंदन तिलक लगाए
ऐसे शुभ अवसर पर सबको
रक्षाबंधन की शुभकामनाएं।


6.
जितना मुझसे लड़ती है
उतना ही प्यार जताती है
रूठ जाऊं मैं जो कभी
मुझको वो मनाती है,
घर को सुंदर बनाती
वो परिवार का गहना है
मेरी कलाई पर बांधे राखी
वो मेरी प्यारी बहना है

7.
वो सदा ख्याल रखता है उसका
और उसे सिर आँखों पर बिठाता है,
दुनिया का हर भाई अपनी बहन को
जी-जान से भी ज्यादा चाहता है।


8.
सावन के महीने में जो पावन पर्व ये आता है
हर बहन को ये अपने भाई से मिलवाता है
रक्षा बंधन का ये त्यौहार है ऐसा
भाई-बहन के लिए जो ढेरों खुशियाँ लाता है।


9.
वो उसे लगती परी, वो उसे लगता फ़रिश्ता है,
भाई-बहन का कुछ ऐसा ही रिश्ता है।


10.
हर रिश्ते से ये रिश्ता जुदा है
क्योंकि इसमें प्यार का सागर बसा है,
उसके गम को हमेशा दूर किया है भाई ने
और उसकी खुशियों में उसके संग हंसा है।


11.
बाजारों में था लग रहा अब तक जिसका मोल,
जैसे कलाई पर बंधी हो गई वो अनमोल।


12.
जब भी मुसीबत पड़ेगी हम पर
हमारे हक़ में दुवायें कौन मांगेगा,
जब बहनें ही न रहेंगी इस दुनिया में
तो राखी कौन बांधेगा?


13.
तेरी तरफ जो रुख करेंगी गरम हवाएं तो
तो उनको भी जला कर ख़ाक कर दूंगा
ओ मेरी प्यारी बहना जो तुझे किसी ने सताया
तो ये कायनात भी जला कर राख कर दूंगा।


14.
बचपन की वो शैतानियाँ मुझे आज भी याद आती हैं,

उस वक़्त तो बस मेरी आँखें भर जाती हैं,
दिल को मिल जाता है सुकून और रूह खुश हो जाती हैं
जब रक्षाबंधन पर मेरी बहना राखी लेकर आती है।


15.
साधारण सा धागा नहीं ये विश्वास की एक डोर है,
कोई तोड़ सके इसे न किसी में इतना जोर है
कौन कहता है की अंत हो जाता है हर रिश्ते का
ये वो रिश्ता है जिसका न कोई ओर न कोई छोर है।

राखी, गिफ्ट, मिठाइयाँ, राखी स्टोर में जाए

आपको यह ” रक्षाबंधन पर शायरी ” शायरी संग्रह कैसा लगा? इसके बारे में हमें अवश्य बतायें। इस शायरी को सोशल प्लेटफॉर्म्स पर जरूर शेयर करें। आप सबको अप्रतिम ब्लॉग की तरफ से रक्षाबंधन की बहुत-बहुत शुभकामनायें।

पढ़िए भाई-बहन से संबंधित ये सुंदर रचनाएं :-

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

21 comments

Avatar
susheel July 18, 2021 - 5:27 PM

Nice bhai a am regular visitor of your blog and i love your artical
i am also write for www.morepankh.com please give me a chance to write for you.
I will give you fresh and unique content in hindi

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh July 19, 2021 - 10:43 PM

Contact us on [email protected]

Reply
Avatar
Mohammad Rihan July 1, 2021 - 12:41 AM

bahut badiya shayari bhai keep sharing

Reply
Avatar
Geeta Namdev October 27, 2020 - 4:44 PM

Beautiful Rksha Bandhan Shayari

Reply
Avatar
Anand Singh July 26, 2020 - 5:44 AM

बहुत ही सुंदर

Reply
Avatar
Hindi shayari June 1, 2019 - 11:22 PM

Rakshabandhan par bahut shandar shayari h
Https://www.myhindishayari.in/

Reply
Avatar
dhani November 21, 2017 - 10:43 PM

jaane kese inhe bahar ched jaate hai log….
jabki ghar me inhe behana bulaate hai log….

Reply
Avatar
Bhundwaji Naresh November 3, 2017 - 8:56 PM

Jordar hkm

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh November 4, 2017 - 10:11 AM

Bhundwaji Naresh जी धन्यवाद।

Reply
Avatar
Md Badshah Ansari August 7, 2017 - 1:18 PM

Acha Shayari tha

Thanks

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 7, 2017 - 2:36 PM

Thanks Md. Badshah Ansari bhai….

Reply
Avatar
sanjay August 7, 2017 - 8:08 AM

शायरी दिल को छू गईरक्षाबंधन की

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 7, 2017 - 8:52 AM

धन्यवाद संजय भाई।

Reply
Avatar
sanjay August 7, 2017 - 8:06 AM

good

Reply
Avatar
Suresh Kumar Verma August 6, 2017 - 11:13 PM

Nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 7, 2017 - 8:52 AM

धन्यवाद सुरेश जी।

Reply
Avatar
Subhash khant August 6, 2017 - 1:19 PM

Dhara 347ko maddenajar rakhate hue ye Adalat India ki koi bhi beti Subhash Khant Ko Bhai yani apna Bhai banane ki Saja sunati he from SUBHASH KHANT

Reply
Avatar
sushila August 5, 2017 - 9:46 AM

bhai and bahana ka bara tounhar hai rakshabandan all broter very happy rakshabandan

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 5, 2017 - 5:47 PM

आपको भी रक्षाबंधन की शुभकामनाएं sushila जी।

Reply
Avatar
Nageshwar Dhakad August 4, 2017 - 5:33 PM

शायरी दिल को छू गई
रक्षाबंधन की

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 5, 2017 - 6:09 AM

धन्यवाद Nageshwar Dhakad जी।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More