Home हिंदी कविता संग्रहरिश्तों पर कविताएँ प्यार की परिभाषा – प्यार क्या है? प्यार पर कविता | Definition Of Love Hindi Poem

प्यार की परिभाषा – प्यार क्या है? प्यार पर कविता | Definition Of Love Hindi Poem

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

हमारी जिंदगी में प्यार की बहुत महत्वता है। लेकिन प्यार क्या है? इसका अर्थ क्या है? इस बारे में हम लोगों की अपनी-अपनी विचारधारा है। जिस व्यक्ति के जैसे विचार होते हैं उसे प्यार का वैसा ही अर्थ मिलता है। माता-पिता, दोस्त, भाई-बहन, अध्यापक आदि सबसे हमें प्यार मिलता है। ये हमारी सोच ही है कि हम इसे किस नजरिये से देखते हैं। इसी तरह मैंने भी अपनी विचारधारा से प्रेरित होकर प्यार पर एक कविता लिखी है- प्यार की परिभाषा ।

प्यार की परिभाषा

प्यार की परिभाषा - प्यार क्या है? प्यार पर कविता

अंधेरों में भटके जो कोई
या रह न जाये कोई आशा,
हाथ बढ़ा कर साथ दे कोई
यही है प्यार की परिभाषा ।

जब टूट जाये हिम्मत सारी
चिंता का बोझ लगे भारी,
तनहाई हर पल साथ रहे
और मन में रहे जिम्मेदारी,
तब वक़्त भागता जाता है
और डर भविष्य का खाता है,
बन कर फरिश्ता ऐसे वक़्त में
शख्स जो कोई आता है,
देता है उम्मीद नई फिर
ताकत और दिलासा,
हाथ बढ़ा कर साथ दे कोई
यही है प्यार की परिभाषा ।

साया जो हर पल साथ रहे
जिसके रहने से विश्वास रहे,
दुनिया क्या बिगाड़े की उनका
खुशियों को उनकी तलाश रहे,
अनुभव उनका कुछ ऐसा है
जो कभी न गिरने देता है,
बुरी नजर का साया भी
राह अपना बदल लेता है,
माँ-बाप के आशीर्वाद से ही
होती है दूर निराशा,
हाथ बढ़ा कर साथ दे कोई
यही है प्यार की परिभाषा ।

सच्चा वही जो संग तेरे है
जब दौर मुसीबत का साथ रहे,
कितनी भी आंधी हो कहर की
तेरे हाथ में उसका हाथ रहे,
हर ओर से जब धिक्कार पड़े
तेरे लिए सबसे वो हर बार लड़े,
तेरे कंधों को मजबूत वो करके
तुझे जल्द से जल्द वो खड़ा करे,
तेरे हर पल आगे बढ़ने की
जब हो किसी को अभिलाषा,
हाथ बढ़ा कर साथ दे कोई
यही है प्यार की परिभाषा ।

एक बूँद इश्क – The Last Wish | इश्क पर कविता

कविता पढ़ने के बाद प्यार के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर दें। और अगर ये कविता पसंद आई तो शेयर करे। धन्यवाद।

प्यार भरी रचनाएँ-

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

33 comments

Avatar
Ashad मई 21, 2021 - 4:24 अपराह्न

Sr me apki kavita ko apne chaneel pr istmal kr skta hu

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh मई 22, 2021 - 3:07 अपराह्न

Ashad Ji please contact us on our whatsapp number 9115672434. Thanks.

Reply
Avatar
shani yadav जुलाई 1, 2020 - 5:31 अपराह्न

very nice poem i loveyou

Reply
Avatar
Arvind Singh जून 4, 2020 - 7:04 अपराह्न

Bahut khub bataya aapne ! aur ek dum sahi kaha aapne jo saya sath de har pal wo pyar hai .
sir mene bhi pyar ke bare me likha hai ki vastivkta me prem ki paribhasha kya honi chaiye . aur log kya samjhte hai.
Please consider my article also to the readers .
https://www.technicalbook.in/2020/06/what-is-love-actually.html

Reply
Avatar
devendra methri दिसम्बर 16, 2019 - 12:22 अपराह्न

bahut hi badhiya kavita likhi hai aap ne….

Reply
Avatar
Bhavani Rajak अक्टूबर 20, 2019 - 12:31 पूर्वाह्न

बहुत से सुंदर और सरस ढँग से प्रेम की परिभाषा समझने के लिए आपका कोटि कोटि धन्यवाद।

Reply
Avatar
RAVI KUMAR PRAJAPATI जुलाई 25, 2019 - 5:48 पूर्वाह्न

Usme bola aapki life me koi nhi aa Sakta ,our agar koi aa bhi gya to AAP use pyar nhi kr sakte kyoki aapke Ander pyar Vali feeling hi nhi h ,sochta hu kya god ne mujhe wakai me Dil nhi diya meri ek problem h ki Mai pyar pe kabhi Vishwas nhi krta ,mujhe jyada log dikhte h pyar karke bs apni Hawas Ko shant karte h ,aajkal to pyar huye kuch hi din hua nhi ki break-up bhi jaldi ho jata hi fir kisi tisre k sath bhi ho jata h so I can't believe love.

Reply
Avatar
RAVI KUMAR PRAJAPATI जुलाई 25, 2019 - 5:40 पूर्वाह्न

Nice Sir ji kisi ne hmse bola ,tumhare paas Dil hi nhi tum kya Jano pyar kya chij h so hm mentally disturbed ho gye samajh nhi aa Raha aakhir kya kami rah gyi .but your most thanks sir ji

Reply
Avatar
Vikartan फ़रवरी 14, 2019 - 9:34 अपराह्न

बहुत खूब।।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh फ़रवरी 19, 2019 - 12:28 अपराह्न

धन्यवाद Vikartan जी…..

Reply
Avatar
सौरभ पाण्डेय जनवरी 27, 2019 - 2:09 पूर्वाह्न

अति सुंदर व्याख्या है प्रेम की।
आंनद आ गया पढ़ कर ।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जनवरी 30, 2019 - 8:45 अपराह्न

धन्यवाद सौरभ पाण्डेय जी….

Reply
Avatar
पंकज पांडेय नवम्बर 6, 2018 - 10:47 अपराह्न

हिसाब से मोहब्बत एक एहसास है, जो 2 अलग अलग दिलों में एक ही तरह से धड़क रहा हो।
जिससे बात करते ही,देखते ही या सोचते ही चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाएं।
वह चीज़ जिसे खोने की सोच से ही बेचैनी होना या कही भी मन नहीं लगना।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh नवम्बर 7, 2018 - 5:52 अपराह्न

सबकी अपनी परिभाषा है पंकज पांडेय जी….बस कोई शब्दों में व्यक्त कर पाता है कोई नहीं…..

Reply
Avatar
Ajay Evane अक्टूबर 3, 2018 - 8:07 पूर्वाह्न

Very nice love

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अक्टूबर 4, 2018 - 7:03 अपराह्न

Thanks Ajay Bro…..

Reply
Avatar
vinita gunjetiya जनवरी 13, 2018 - 11:36 अपराह्न

Its very true poem…part of my life…plz tell me…save kese kru ..taki kbhi or bhi pd sku…

Reply
Chandan Bais
Chandan Bais जनवरी 14, 2018 - 2:43 अपराह्न

अपने वेब ब्राउज़र में इस पेज का बुकमार्क सेव कर लीजिये जिससे कभी भी सीधे इसी पेज में आके आप पढ़ सकती है। अगर बिना नेट के पढना चाहते है तो “पॉकेट” एप्प में इस पेज को सेव कर लीजिये। इसके अलावा अगर कोई और मदद चाहिए तो हमें [email protected] में मेल कीजिये। धन्यवाद।

Reply
Avatar
vinita gunjetiya जनवरी 13, 2018 - 11:26 अपराह्न

Pyar is duniya ka sbse khubsurt ahsas h…jo sirf mhsus kiya ja skta h…khrida ya becha nhi ja skta…its my deffination….for lv…..nd aapki kvita bhut hi pyari or schchi h…..part of my life…..

Reply
Avatar
Vishram Khilery bhadun नवम्बर 5, 2017 - 7:34 अपराह्न

Think you जी प्यार के बारे में जानकारी दीदेने के लिए हम आपके आभारी रहेगै

Reply
Avatar
manoj kumawat अक्टूबर 29, 2017 - 10:18 अपराह्न

बहौत अच्छा लिखा प्यार के बारे में आपने हमको बतया की प्यार क्या होता ह आपका का कोटि कोटि धन्यवाद ध्न्यवाद

Reply
Avatar
Divyaa patel सितम्बर 8, 2017 - 3:12 अपराह्न

Mujhe bahat khushi hui pyar ki paribhasha kitne khub surti se aapne samjhaya…bahat bahat dhanyabad aapko….

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh सितम्बर 8, 2017 - 9:04 अपराह्न

Divyaa patel जी हमें ये सुनकर अच्छा लगा की आपको यह कविता पढ़ कर ख़ुशी हुयी। इसी तरह हमारा हौसला बढ़ाते रहें ताकि हम और उत्तम रचनाएँ आप तक पहुंचाते रहें। धन्यवाद।

Reply
Avatar
मो0 मुसतकीम आलम अगस्त 6, 2017 - 10:50 पूर्वाह्न

बहुत अच्छा प्यार की परिभाषा हैं

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अगस्त 7, 2017 - 8:50 पूर्वाह्न

धन्यवाद मो0 मुसतकीम आलम भाई।

Reply
Avatar
Karijma अगस्त 4, 2017 - 8:58 पूर्वाह्न

Jab tak hame hamara hamdard nahi banta,tab tak ham dard ke aur dard hamse hota hai

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अगस्त 4, 2017 - 9:36 पूर्वाह्न

सही बात कही आपने Karishma ji….

Reply
Avatar
Adesh अगस्त 3, 2017 - 11:36 अपराह्न

Bahut acche Sandeep Singh jee.

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh अगस्त 4, 2017 - 9:36 पूर्वाह्न

धन्यवाद आदेश जी।

Reply
Avatar
renu kumari जुलाई 28, 2017 - 9:47 अपराह्न

Dil se thnx nd i proud of ur think…pyar th bs pyar hota h

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh जुलाई 30, 2017 - 2:48 अपराह्न

Thank you very much Renu Kumari JI…….

Reply
Mr. Genius
Mr. Genius जुलाई 14, 2016 - 7:09 अपराह्न

अपने विचार लिखने के लिए धन्यवाद जमशेद आज़मी जी।

Reply
Avatar
जमशेद आज़मी जुलाई 14, 2016 - 12:43 अपराह्न

बहुत खूब। प्‍यार की परिभाषा आपके माध्‍यम से जानकर अच्‍छा लगा। प्‍यार तो सिर्फ प्‍यार ही होता हैै। इसमें धोखा, किंतु परंतु के लिए कोई स्‍थान नहीं है। बहुत ही बढि़या रचना लिखने के लिए आपका धन्‍यवाद।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More