Home हिंदी कविता संग्रह एकतरफा मोहब्बत :- पहली मोहब्बत के अनकहे जज़्बात कविता

एकतरफा मोहब्बत :- पहली मोहब्बत के अनकहे जज़्बात कविता

by Sandeep Kumar Singh

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

जिंदगी बड़ी अजीब है। जो सोचो वो होता नहीं और जो हो जाता है वो सोचा नहीं होता। कई बार पहली मोहब्बत इस तरह होती है कि बस हो जाती है लेकिन पता नहीं चलता। और जब पता चलता है तो दिल इज़हार करने से डरता है। ऐसी मोहब्बत को एकतरफा मोहब्बत का नाम दिया जाता है। कुछ अलग ही एहसास होता है इसका। लेकिन अगर समय रहते इसका इजहार न किया जाए तो बाद में बस यादें ही रह जाती हैं। ऐसी ही एक याद को मैं आपके साथ बाँटना चाहता हूँ। आइये पढ़ते हैं :- ‘ एकतरफा मोहब्बत ‘

एकतरफा मोहब्बत

एकतरफा मोहब्बत

न जाने दर्द सा हुआ क्यों मुझको
और दिल भी मेरा रोया है,
पाया ही नहीं था तुझको
तो न जाने कैसे खोया है?
ये दूरियां हम दोनों के दरमियान
पहले दिन से ही थीं
मगर न जाने क्यों
इसका एहसास
तेरे जाने के बाद हुआ।

न जाने कब ये वक्त
बीतता ही चला गया,
न जाने कब तू मेरी
जिंदगी से होकर गुजर गया।

मैं हर रोज ये सोचकर
निकलता था घर से
जो कल न कह सका
वो आज कहूँगा फिर से
बयां कर दूंगा वो सब
जो इस दिल में छिपा रखा है,
मगर न जाने वो पल
कहाँ, कब और कैसे निकल गया।

हाँ मैं इस बात से वाकिफ हूँ
कि अब कभी तुझसे
मुलाकात न होगी,
सजाया करता था मैं जो ख्वाब
अफ़सोस अब वो रात न होगी,
कोई याद भी तो नहीं है
जिसके सहारे खुश हो लूँ मैं
एकतरफा मोहब्बत थी
बर्बाद हो गयी।

मगर तू जब तक
आँखों के सामने था
दिल में एक सुकून सा था,
अब तो बस बेबसी का
आलम हर वक़्त है,
और क्या लिखूं
कुछ समझ नहीं आता,
बस तेरा चेहरा
आँखों के सामने से नहीं जाता,
ये तो बस मैंने अपने जज्बातों को
शब्दों में पिरोया है,
न जाने दर्द सा हुआ क्यों मुझको
और दिल भी मेरा रोया है,
पाया ही नहीं था तुझको
तो न जाने कैसे खोया है?

पढ़िए :- प्यार की परिभाषा – प्यार क्या है? प्यार पर कविता

आपको यह कविता ‘ एकतरफा मोहब्बत ‘ कैसी लगी हमें अवश्य बतायें।

पढ़िए प्यार / मोहब्बत से संबंधित ये खूबसूरत रचनाएं :-

धन्यवाद।

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

9 comments

Avatar
Chhanno September 27, 2021 - 11:16 AM

Aapki is Kavita Ko kya main apni video ke madhyam se bol sakti hun

Reply
Avatar
छन्नी September 27, 2021 - 11:15 AM

बहुत अच्छी कविता लिखी है बेमिसाल

Reply
Avatar
Krishna Kumar maurya April 22, 2019 - 2:02 AM

नमस्कार क्या मैं आपकी अनुमति से इस रचना को अपनी आवाज दे सकता हूं मैं पेशे से एक वॉइस ओवर आर्टिस्ट भी हूं आप के प्लेटफार्म और लेखक का नाम मेरे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है यह दोनों मेरे आवाज में शामिल रहेंगे यदि आप अनुमति देते हैं तो मैं आपका आभारी रहूंगा
कृष्ण कुमार
युवा रंगकर्मी
प्रयागराज उत्तर प्रदेश

Reply
Chandan Bais
Chandan Bais April 22, 2019 - 4:37 PM

कृष्ण कुमार जी, हमारी इस रचना में दिलचस्पी दिखाने के लिए धन्यवाद। कृपया हमसे 9115672434 पर कॉल या whatsapp से संपर्क करे।

Reply
Avatar
Raj February 27, 2019 - 12:09 PM

very nice bhai thanks

Reply
Avatar
shakti singh November 12, 2018 - 12:28 PM

बहुत अच्छा मित्र , आपकी कविताओं को पड़कर ओर शेयर कारके दिल हल्का हो जाता है। क्योंकि एकतरफा मोहब्बत की घटना होने के बाद ऐसा लगता था की हम अकेले हैं। पर अब लगता है हमारे जैसे बहुत से भाई है जिनके साथ ये घटनाएं हुई हैं

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh November 12, 2018 - 6:54 PM

धन्यवाद शक्ति सिंह जी…..

Reply
Avatar
Sachhu August 7, 2018 - 4:04 PM

वंडरफुल यार क्या लिखे हो, इसे समझ वही सकता है जिसने एकतरफा प्यार किया हो |

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 7, 2018 - 5:55 PM

धन्यवाद Sachhu जी।

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More