Home » हिंदी कविता संग्रह » प्राकृतिक कविताएँ » पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ पर कविता – धरती तपती आग सी

पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ पर कविता – धरती तपती आग सी

by ApratimGroup
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ – पेड़ों के काटे जाने के कारण धरती से जंगल कम होते जा रहे हैं और ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती जा रही है। धरती का तापमान निरंतर बढ़ रहा है। बिना पेड़ लगाये इस समस्या का हल नहीं निकला जा सकता। यही सन्देश दे रहे हैं रचनाकार अपनी इस कविता में :-

पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ पर रचना

पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ पर रचना

धरती तपती आग सी,
कहीं न मिलती छाँव ।
सिर पर पहरा धूप का,
जलते सबके पाँव ।।

जलते सबके पाँव,
गलती खुद ही किया है ।
पेड़ काट के हमने,
भयंकर भूल किया है ।।

कहे विनय कविराय,
सभी जन पेड़ लगाओ ।
करके यही उपाय,
धरा को स्वर्ग बनाओ ।।


विनय कुमारयह रचना हमें भेजी है आदरणीय विनय कुमार जी ने जो की अभी रेलवे में कनिष्ठ व्याख्याता के रूप में कार्यरत हैं।
रचनाएं व अवार्ड: इनकी रचनाएं देश के 50 से अधिक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी है। जिस के फलस्वरूप आप कई बार सम्मानित हो चुके हैं। गत वर्ष 2018 का रेलमंत्री राष्ट्रीय अवार्ड भी रेल मंत्री ने दिया था।
लेखन विद्या: गीत, ग़ज़ल, दोहा, कुण्डलिया छन्द, मुक्तक के अलावा गद्य में निबंध, रिपोर्ट, लघुकथा इत्यादि। तकनीकी विषय मे हिंदी में लेखन।
‘ पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ पर रचना ‘ के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे रचनाकार का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

धन्यवाद।

You may also like

10 comments

Avatar
Deepak Kumar August 11, 2019 - 8:15 PM

Kya baat hai Sabse badiya

Reply
Avatar
विनय कुमार August 11, 2019 - 8:03 PM

आप सभी का धन्यवाद । अगर मैं अपने कविता के माध्यम से लोगों को जागरूक करने में सफल रहा तो मेरी कविता धन्य हो जाएगी।

Reply
Avatar
Pankaj Kumar Gupta August 11, 2019 - 1:48 PM

बहुत ही सुन्दर लगा आपकी कविता
इसी तरह कुछ कुछ लिख कर भेजा करे विनय जी

Reply
Avatar
Dengkhw muchahary August 11, 2019 - 10:49 AM

Plant trees and save life ????????????

Reply
Avatar
बिनोद कुमार गुप्ता August 10, 2019 - 11:36 PM

वाह, बहुत खूब…. पर्यावरण संरक्षण पर एक उत्तम कविता। कवि के प्रयास को धन्यवाद।

Reply
Avatar
Simona Swarnim August 10, 2019 - 10:36 PM

Very nice poem. Writer should get more and more platform. Touched.

Reply
Avatar
Manoj kumar August 10, 2019 - 9:53 PM

समय रहते पेड़ और पानी को संरक्षित और सुरक्षित नहीं रखा गया तो पृथ्वी से सभी प्राणियों की अन्त तय है.! और इसका कारण कोई युद्ध नहीं, पेड़ और जल होगा! इसलिए पेड़ लगाए और जल बचाए!

Reply
Avatar
Sujit jha August 10, 2019 - 9:37 PM

Bahut hi Aachha kavita jo ki samaj ko chochne aur kuchh karne ke liye prerit karti hai khas uon logo ke liye jo soa gaye hai wo jarur jagegeia Dhanbad

Reply
Avatar
Udip Rajbanshi August 10, 2019 - 8:47 PM

Wonderful

Reply
Avatar
Santodh Kumar prasad August 10, 2019 - 8:33 PM

Bhud acha sir yesi trah likhte rhe bhud acha bichar h sir apka

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More