Home » हिंदी कविता संग्रह » नदी पर छोटी कविता :- आगे बढ़ना ही जीवन है प्रेरणादायक कविता

नदी पर छोटी कविता :- आगे बढ़ना ही जीवन है प्रेरणादायक कविता

by Sandeep Kumar Singh

आगे बढ़ते रहने का ही नाम जीवन है। यूँ तो हमारे आस-पास कई ऐसी चीजें हैं जो हमें आगे बढ़ने की प्रेरणा देते रहते हैं। मगर मैं यहाँ पर बात करने वाला हूँ नदी की। जी हाँ, नदी हमारे लिए एक बहुत ही बड़ी प्रेरणास्त्रोत है। इसी बात को हमें बताने की कोशिश की है नदी पर छोटी सी कविता में तो आइये पढ़ते है नदी से प्रेरित नदी पर छोटी कविता :-

नदी पर छोटी कवितानदी पर छोटी कविता

बूँद-बूँद संगृहीत कर अपना
वजूद ये बड़ा बनाती है,
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

जब चलना आरम्भ ये करती
अस्तित्व बहुत छोटा होता
राह भी दुर्गम होते हैं और
चलना भी दूभर होता,
हार न फिर भी मानती है
बस आगे बढती जाती है
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

राह में अगर रुकावट पड़ती
डट कर यह है उस से लड़ती
बह जाती यह खोद सुरंग
या पर्वत के ऊपर जा चढ़ती,
ताकतवर गर हो जो मुसीबत
तो हमें अपनी हिम्मत बढानी है
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

कैसे भी हों हालात धरा पर
ये निर्मल सी बहती है
हर पल बस ये कल-कल कर
मधुर संगीत सुनती रहती है,
मत संयम खोना जो कभी भी
विपदा कोई जो आती है
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

कितना भी लम्बा होता हो सफ़र
ये मगर कभी न थकती है
ऐसा कोई मोड़ नहीं है
यह जहाँ पर जाकर रूकती है,
अंत में जाकर सागर की
गोद में यह समाती है
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

जीवन है जब तक अपना
तब तक सफ़र ख़तम न होता है
मंजिल जिसको प्यारी होती
वो न कभी चैन से सोता है,
सागर से बन कर वाष्प ये नदिया
फिर इसी धरा पर आती है
आगे बढ़ना ही जीवन है
नदिया ये हमें सिखाती है।

पढ़िए :- सफलता पर प्रेरणादायक कविता

आशा करते हैं आपको नदी पर छोटी कविता जरूर पसंद आई होगी। इस कविता से सम्बंधित अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

पढ़िए अप्रतिम ब्लॉग की ये प्रेरणादायक रचनाएं :-

धन्यवाद।

You may also like

10 comments

Avatar
rishvan May 13, 2020 - 3:30 PM

thanks very much this, helped me in my project work

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh May 16, 2020 - 12:10 PM

It's our pleasure Rishvan

Reply
Avatar
Jeniffer February 3, 2020 - 5:34 PM

You are a great poet.

Reply
Avatar
अंजलि January 30, 2020 - 12:59 AM

बहोत शानदार कविता है..
मेरा भी एक कविता जिसमे नदी के उदाहरण से जिंदगी में आगे बढ़ने की प्रेरणादायक और मोटिवेशन वाली बनाने की requst है मेरी..
example- नदी हु मै मेरी धरा कभी रूकती नही पहाड़ो का सीन चीर कर जब में बहोत उचाईयों से बहते हुये निकलती हूँ मै जो मैदानों में शांत सी ठहरी हूँ में एक छन के लिये अभी तो मंजिल तक जाना है नदी सी हु में मेरी धारा कभी रूकती नही…
अभी तो चट्टानों को चीरकर मंजिल तक जाना हे…
इस पर एक poetry जरूर बनाइएगा plzz..

Reply
Avatar
Shreyas June 30, 2019 - 11:48 AM

यह अच्छा कविता है।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh July 16, 2019 - 2:57 PM

धन्यवाद श्रेयस….

Reply
Avatar
malikram patel March 29, 2019 - 1:43 PM

good poet very nice.

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh April 2, 2019 - 1:23 AM

Thanks Malikram Patel ji…

Reply
Avatar
sharad koparkar February 5, 2019 - 2:23 PM

सचमुच कया खुब लिखा है आपने…

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh February 7, 2019 - 7:57 PM

धन्यवाद Sharad Koparkar जी….

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More