Home » पुस्तक समीक्षा » लोक व्यवहार | प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला सिखाती डेल कार्नेगी की किताब

लोक व्यवहार | प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला सिखाती डेल कार्नेगी की किताब

by Chandan Bais

किताब पर लेख:- लोक व्यवहार- प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला

लोक व्यवहार में प्रभावशाली होने की आवश्यकता?

शायद ही ऐसा कोई इन्सान होगा, जो सफल और खुशहाल जिंदगी नही चाहता होगा। चाहे आप किसान हो, दुकानदार, कर्मचारी, या किसी कंपनी के मालिक। आपको अधिक से अधिक सफलता चाहिए। घर में ख़ुशी भरा माहोल और गली में, मोहल्ले में, शहर में या कहले की पूरी दुनिया में नाम बनाने की इच्छा। लेकिन कोई अपनी जिंदगी की ऐसा कैसे बना सकता है?

लोक व्यवहार

अगर आप बिज़नस में है तो लोगो को प्रभावित करना शायद आपकी सबसे बड़ी चुनौती होगी। अगर आप गृहणी, वास्तुविद या इंजिनियर है, तो भी आप लोगो को प्रभावित करना चाहते होंगे।

हम सब जानते है की, मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। हमारा सारा जीवन और क्रियाकलाप सामाजिक होता है। अधिकतर कार्यो के लिए हम सब एक-दुसरे पर निर्भर रहते है। सभ्यता के शुरुवात में अगर इन्सान सामाजिक प्रणाली अपनाने से इंकार कर देता तो आज मनुष्यों की स्थिति किसी विलुप्त होते प्राणी की तरह होती।

हमें अपने जीवन को चलाने और अलग-अलग कार्यो को करने के लिए लोगो के साथ लेना-देना रखना पड़ता है। उनके साथ हमारा व्यवहार और तौर-तरीके जितने अच्छे होंगे हमारा काम उतना ही बढ़िया ढंग से होगा। आप एक अकेले इस दुनिया में ज्यादा कुछ नही कर सकते। आपको लोगो को अपनी बात मनवाना पड़ता है। उनसे काम करवाना पड़ता है। ताकि आप अपने काम में सफलता पा सके। इसके लिए जरुरी है की लोग आपको पसंद करे। आपसे प्रेम करे। और आपमें विश्वास रखे। भला लोग ऐसा क्यों करने लगे?


लोक व्यवहार- प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला

लोक व्यवहार प्रभावशाली व्यक्तित्व की कला सिखाती डेल कार्नेगी की किताब

डेल कार्नेगी के किताब “How to win friends and influence people” का हिंदी अनुवाद में किताब है “लोक व्यवहार“। जो हमें ये सिखाती है की किन तरीकों से हम लोगों के प्रति अपने व्यवहार, तौर-तरीके, बातचीत के ढंग में सुधार करके लोगो का दिल जीत सकते है। उनको अपनी बात मनवा सकते है। नए दोस्त और अच्छे रिश्ते आसानी से बना सकते है।  अपनी लोकप्रियता बढ़ा सकते है। और प्रभावशाली व्यक्तित्व पा सकते है।

डेल कार्नेगी अमेरिका के न्यूयार्क शहर में १९१२ से बिज़नस से जुड़े लोगो और प्रोफेशनल्स के लिए एक पाठ्यक्रम चलाते थे। जिसमे वो लोगो को सार्वजनिक रूप से बोलने की कला सिखाते थे। अपने पेशे में कुछ समय बाद उन्होंने ये महसूस किया की सिर्फ प्रभावी ढंग से बोलने की कला ही महत्वपूर्ण नही है। बल्कि रोजमर्रा के बिज़नस और सामाजिक रूप से व्यवहार करने की कला भी महत्वपूर्ण है।

उसके बाद “कार्नेगी फाउंडेशन फॉर द एडवांस्ड टीचिंग” के तत्वाधान में एक रिसर्च किया गया। इस शोध से पता चला की, किसी व्यक्ति के आर्थिक सफलता का केवल १५ प्रतिशत ही उसके तकनीकी ज्ञान पर निर्भर करता है। जबकि उसकी सफलता का ८५ प्रतिशत उसके व्यवहार की कला पर निर्भर करता है।

आपने खुद अनुभव किया होगा। की कुछ लोगो के बात करने और पेश आने का तरीका ऐसा होता है की दुसरे उनसे जल्दी ही घुलमिल जाते है। और उनका काम करने को तैयार हो जाते हैं। वहीँ दूसरी ओर ऐसे लोग भी होते है, जिनसे लोग दूर रहना ही पसंद करते है।


इस किताब में डेल कार्नेगी कहते है की,

“इस दुनिया में सिर्फ एक तरीका है। जिससे आप किसी से कोई काम करवा सकते है। सिर्फ एक तरीका। और वह तरीका है, उस व्यक्ति में वह काम करने की इच्छा पैदा करना।

याद रखिये इसके अलावा कोई और दूसरा तरीका नही है।

हाँ, आप किसी के सीने पर रिवाल्वर रख कर उसमे घड़ी देने की इच्छा पैदा कर सकते है। आप अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की धमकी देकर उन्हें सहयोग देने के लिए विवश कर सकते है। बच्चों को पीटकर आप उनसे अपनी बात मनवा सकते है। परन्तु इस जंगली तरीको के परिणाम अच्छे नही होंगे।

केवल एक ही तरीके से मैं आपसे कोई चीज हासिल कर सकता हूँ। और वह तरीका है आपको वो देना जो आप चाहते है।

तो आप क्या चाहते है?”

इसी सिद्धांत के पर आधारित डेल कारनेगी का ये किताब है। जो की चार मुख्य खंडो में बंटा है:

  1. लोगो को प्रभावित करने के मूलभूत तरीके।
  2. लोगो का चहेता बनने के छः तरीके।
  3. लोगो से अपनी बात कैसे मनवाए।
  4. ठेस पहुंचाएं बिना लोगो को कैसे बदले।

प्रभावशाली व्यक्तित्व के फायदे:

असल जिंदगी के सैकड़ो उदाहरणों के माध्यम से वो ऐसे छोटे-छोटे और प्रभावशाली तरीके बताते है। जिसे अपने आदतों में शामिल करके आप अपने व्यवहार, तौर-तरीको को इस हद तक बदल सकते है की:

  • आपके लिए नए दोस्त और संबध बनाना आसन हो जायेगा।
  • आपकी लोकप्रियता बढ़ जाएगी।
  • लोगो से अपनी बात मनवा पाने में आप कामयाब होंगे।
  • आपके प्रभाव, मान-सम्मान के साथ काम करवाने की क्षमता भी बढ़ेगी।
  • शिकायतों से निपटने, बहस से बचने, और संबंधो को मधुर बना पाएंगे।
  • अच्छा वक्ता बनने के साथ ही लोगो में उत्साह भरने का तरीका भी सीख जायेंगे।

अपने सफल दौर में जॉन डी. रॉकफ़ेलर ने कहा था, “लोगो से व्यहार करने की कला भी उसी तरह ख़रीदे जाने वाली चीज हैं जैसे की शक्कर या कॉफ़ी। और मैं इस कला के लिए दुनिया के किसी भी चीज से ज्यादा कीमत देने के लिए तैयार हूँ।”

तो क्या आप लोक व्यवहार और प्रभावशाली व्यक्तित्व की इस कला को सीखना चाहेंगे?

ये किताब अभी ख़रीदे:

[column size=”one-half”]

लोक व्यवहार (हिंदी)

[/column]
[column size=”one-half” last=”true”]

How to win friends and influence people (English)

[/column]

सम्बंधित रचनाएँ:

धन्यवाद

You may also like

1 comment

Avatar
Daisy.Marico December 29, 2019 - 9:08 AM

The most important value of life is the happiness of the soul, not anything outside of it.

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More