जीवन लक्ष्य पर कविता :- अपने लक्ष्य को पाने की भूख | Lakshya Poem In Hindi

जीवन में लक्ष्य का होना बहुत जरूरी है। जब तक मानव जीवन में सफलता के लिए संघर्ष न करे उसका जीवन व्यर्थ होता है। हमें निरंतर यही प्रयास करना चाहिए कि हम जीवन में अपना लक्ष्य प्राप्त करें। फिर चाहे वह लक्ष्य शांति, ख़ुशी, पैसा या अपने गुणों को बढ़ाना ही क्यों न हो। हम अपने जीवन में कोई भी लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। बस उस्केक लिए सब से जरूरी चीज है लक्ष्य की भूख होना। आइये इसी विषय पर पढ़ते हैं यह “ जीवन लक्ष्य पर कविता ” ( Jivan Lakshya Par Kavita ) :-

जीवन लक्ष्य पर कविता

जीवन लक्ष्य पर कविता

अपने लक्ष्य को पाने की भूख
न मिटी हैं मिटने देंगे हम,
चाहे राह में हो अत्यंत बाधाएं
उनसे टकराने का नहीं कोई गम।

मन को सामना करना होगा
जीवन में अपने भय का,
डर से भी बड़ा निर्माण करूँगा
आत्मविश्वास अपने हृदय का।

वह सफलता किस काम की
जिसमें न हो संघर्ष का तराना,
असफलता से सीखा है मैंने
गिरना गिरकर उठ जाना,।

बड़े दिनों के उपरांत लगी है
अब जो मेरे हृदय में आग,
जब तक न पूरे हो जाते
मिटने न दूंगा सपनों का राग।

दृढ़ विश्वास मुझे है में
सफल बनूँगा मैं एक दिन,
भर लिया उर में साहस
करूँगा हर राह कठिन।

उम्मीद की न हो कोई किरण
पर होगा वही जो चाहेंगे हम,
चलकर मुश्किल रस्तों पर
पाएँगे लक्ष्य खाई है कसम।

समस्याएँ, बाधाएँ आएंगी
ये जीवन की अनिवार्य कहानी है,
पाकर सफलता ये सबको
एक दिन हमें सुनानी है।

माना की लक्ष्य की राह में
आते हैं घनघोर अँधेरे,
संघर्ष, मेहनत और लगन से
पूरे होंगे जरूर सपने मेरे।

पढ़िए :- प्रेरणादायक कविता “लक्ष्य मिलना चाहिए”


नमस्कार प्रिय मित्रों.

सूरज कुमार

मेरा नाम सूरज कुमार है और मैं उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के सिंहपुरा गांव का रहने वाला एक छोटा सा कवि हूँ। बचपन से ही मुझे कविताएं लिखने का शौक है तथा मैं अपनी सकारात्मक सोच के माध्यम से अपने देश और समाज और हिंदी के लिए कुछ करना चाहता हूँ। जिससे समाज में मेरी कविताओं के माध्यम से मेरे शब्दों के माध्यम से बदलाव आए। क्योंकि मेरा मानना है आज तक दुनिया में जितने भी बदलाव आए हैं वह अच्छी सोच तथा विचारों के माध्यम से ही आए हैं अगर हमें कुछ बदलना है तो हमें अपने विचारों को अपने शब्दों को जरूर बदलना होगा तभी हम दुनिया में हो सब कुछ बदल सकते हैं जो बदलना चाहते हैं।

‘ जीवन लक्ष्य पर कविता ‘ ( Lakshya Poem In Hindi ) के बारे में कृपया अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। जिससे लेखक का हौसला और सम्मान बढ़ाया जा सके और हमें उनकी और रचनाएँ पढ़ने का मौका मिले।

धन्यवाद।

One Response

  1. Avatar Manisha Meena

Add Comment