Home » हिंदी कविता संग्रह » प्रेम कविताएँ » हिंदी कविता – तू वही है ना | प्यार भरी हिंदी कविता | Tu Wahi Hai Na: Hindi Poem

हिंदी कविता – तू वही है ना | प्यार भरी हिंदी कविता | Tu Wahi Hai Na: Hindi Poem

by Sandeep Kumar Singh
4 comments

प्यार भरी एक छोटी हिंदी कविता – तू वही है ना ,

हिंदी कविता – तू वही है ना

हिंदी कविता - तू वही है ना

हे….तू वही है ना
जिसने मेरी नींदें लूटी
और आज बोल रही बेकसूर हूँ मैं।
तू वही है ना
जो मेरे दिल में रहती है
और आज बोल रही है बहुत दूर हूँ मैं।
तू वही है ना
जिसने सारे गम मिटा दिए मेरे
और आज बोल रही है नासूर हूँ मैं।

नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
मैं ही न तुझे अपना बना सका मजबूर हूँ मैं।
नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
मैं ही हूँ जो तेरा न हो सका
बिछड़ जाए वो दस्तूर हूँ मैं।
नहीं तू वो नहीं
जो तू बोल रही है
बेबस हूँ नादान हूँ पर तेरे दिल में जरूर हूँ मैं।
चल फिर आज वादा करते हैं साथ देने का
तू जवाब दे देना अगर मँजूर हो तो
जैसा भी हूँ आपका हुज़ूर हूँ मैं।


♥ पढ़िए- जिसका था इंतजार मुझको वो आया है ।


Tu wahi Hai Na

Hey….Tu Wahi Hai Naa
Jisne Meri Neenden Luti
Aur Aaj Bol Rahi Bekasur Hoon main.
Tu Wahi Hai Na
Jo Mere Dil Me Rahti Hai
Aur Aaj Bol Rahi hai Bahut Dur Hoon main.
Tu Wahi Hai Na
Jisne Saare Gam Mita Diye Mere
Aur Aaj Bol Rahi Hai Nasoor Hoon Main.

Nahi Tu Wo Nahi Hai
Jo Tu Bol Rahi Hai
Main Hi Naa Tujhe Apna Bana Saka Majbur Hoon Main
Nahi Tu Wo Nhi Hai
Jo Tu Bol Rahi Hai
Mai Hi Hoon Jo Tera Naa Ho Ska
Bachad Jaye Wo Dastur Hoon Mai
Nahi Tu Wo Nahi Hai
Jo Tu Bol Rahi Hai
Bebas Hoon Nadan Hoon Par Ter Dil Me Jarur Hoon Main
Tu Jawab De Dena Agar Manjoor Ho To
Jaisa Bhi Hoon Aapka Hujur Hoon Mai.

” हिंदी कविता – तू वही है ना ” के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें

धन्यवाद

You may also like

4 comments

Avatar
Rahul mishra फ़रवरी 19, 2019 - 9:31 पूर्वाह्न

Bahut hi acchi kavita hai , padhkar bahut kuch yaad aaya aur dard bi….

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh फ़रवरी 19, 2019 - 12:49 अपराह्न

धन्यवाद राहुल मिश्रा जी….

Reply
Avatar
Dr. Amanulla M. Shaikh सितम्बर 17, 2018 - 1:04 अपराह्न

bahot badhiya

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh सितम्बर 17, 2018 - 5:46 अपराह्न

Thanks Dr. Amanulla ji…..

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.