बहन के लिए कविता :- बहना यूँ ही बना रहे तेरा मेरा ये प्यार

एक भाई के लिए उसकी बहन उसके जीवन में बहुत महत्त्व रखती है। भाई और बहन के बीच की नोक-झोंक तो सबको पता ही है। जितना भाई-बहन आपस में लड़ते हैं। उससे ज्यादा वो एक दूसरे से प्यार करते हैं। ये कविता हर उस भाई की तरफ से उनकी बहनों को समर्पित है जो एक दूसरे के जीवन में बहुत महत्त्व रखते हैं। तो आइये पढ़ते हैं बहन के लिए कविता :-

बहन के लिए कविता

बहन के लिए कविता

जहाँ रहे तू प्यारी बहना
गम न आयें उस द्वार
सदा रहे जीवन में तेरे
खुशियों भरी बहार,
मेरे लिए तो तू है जैसे
भगवान का एक उपहार,
बहना यूँ ही बना रहे
तेरा मेरा ये प्यार।

रूठ जाए तो गुड़िया लगती
डांटे तो लगती माँ
मेरी हर एक बात में रखती
तू है मिलाकर हाँ,
तुझसे ही तो रौनक घर में
तुझसे ही हर त्यौहार
बहना यूँ ही बना रहे
तेरा मेरा ये प्यार।

रक्षाबंधन पर राखी बांधे
भैया दूज पे तिलक लगाये
जब भी आये दिवाली
सुन्दर तू रंगोली सजाये,
माँ-बाप का तू सम्मान है
तुझसे घर में हैं संस्कार
बहना यूँ ही बना रहे
तेरा मेरा ये प्यार।

खुद की फ़िक्र नहीं है मुझको
तेरी फ़िक्र है ज्यादा
तकलीफ तुझे न होगी कोई
ये है मेरा वादा,
चंदा और ये तारे क्या हैं?
क़दमों में रख दूँ ये संसार
बहना यूँ ही बना रहे
तेरा मेरा ये प्यार।

मेरे लिए तो तू है जैसे
भगवान् का एक उपहार
बहना यूँ ही बना रहे
तेरा मेरा ये प्यार।

इस कविता का विडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :-

Behan Par Kavita | बहन के लिए कविता | Poem For Sister In Hindi

” बहन के लिए कविता ” आपको कैसे लगी? सभी भाई व बहन इस पर अपने विचार हम तक अवश्य पहुंचाएं।

पढ़िए भाई और बहन को समर्पित ये रचनाएं :-

धन्यवाद।

3 Comments

  1. Avatar Surendra
    • Sandeep Kumar Singh Sandeep Kumar Singh
  2. Avatar Bhubaneshwar munda

Add Comment