गुरु पूर्णिमा पर कविता | गुरु के लिए कविता | Poem On Guru Purnima In Hindi

Poem On Guru Purnima In Hindi ( गुरु के लिए कविता ) – महान कौन नही बनना चाहता? लेकिन महान बनने के लिए इन्सान को ज्ञान की आवश्यकता होती है, जो हमें मिलता है गुरु से। दोस्तों हर सफल इन्सान के जीवन में गुरु का एक अति विशिष्ट स्थान होता है। हमारे हिन्दू धर्म में तो गुरु के स्थान को भगवान से भी ऊँचा बताया गया है। इसी सदर्भ में गुरु की महिमा का वर्णन करता ये कविता हम आपके सामने गुरु पूर्णिमा और शिक्षक दिवस के लिए गुरु की महिमा पर कविता पेश कर रहे है।

Poem On Guru Purnima In Hindi
गुरु पूर्णिमा पर कविता

गुरु पूर्णिमा पर कविता

गुरु तेरे ज्ञान से बना हूँ मैं विद्वान,
तेरे आदर्शों पर चल कर बनना है महान,
मेरे अँधेरे जीवन में ज्ञान की ज्योत जलाई,
सिखलाया आपने मुझे नेकी और भलाई,
बताया आपने ही सफलता कैसे पाना है,
कितना ही ऊँचा चला जा, अभिमान कभी न करना है,
गुरु तेरे चरणों की धूल माथे पर सजाना है,
तेरे दिए उपदेशो को जग में फैलाना है,
कमजोरो-दुखियो को नेकी का करके दान,

गुरु तेरे ज्ञान से बना हूँ मैं विद्वान,
तेरे आदर्शों पर चलके बनना है महान।

हर मुश्किल घड़ी में धीरज रखना सिखाया था,
संसार के सारे जीवों से प्रेम भाव जगाया था,
गिरे को उठाना प्यासे को पानी,
ये सारी बाते सुने मैंने गुरु तेरे ही वानी,
प्रेम दया और करुणा का पाठ मुझे पढ़ाया था,
गुरु तुम ही ईश्वर हो तब समझ मै पाया था,
मन से लालच-लोभ मिटा कर,
पुण्य का नाम बढ़ाना आज हमने लिया है जान,

गुरु तेरे ज्ञान से बना हूँ मै विद्वान,
तेरे आदर्शो पर चलके बनना है महान।

धरती पर जब मैंने जनम लिया,
माँ बाप ने मुझे नाम दिया,
पर तेरे ज्ञान से ही समझ मै पाया था,
क्या बुरा क्या भला सारे भेद बतलाया था,
तेरे ज्ञान के प्रकाश से ही राह मैंने पाया था,
जिसने मुझे जीवन की मंजिल पार कराया था,
तेरे हर एक-एक वाणी को सलाम,
ऐ मेरे महान गुरु तुझको सत-सत प्रणाम,
ऐ मेरे महान गुरु तुझको सत सत प्रणाम।

गुरु तेरे ज्ञान से बना हूँ मै विद्वान,
तेरे आदर्शो पर चलकर बनना है महान।

पढ़िए गुरु भक्ति से जुड़ी अन्य रचनाएं :-


angeshwar bais

गुरु की महिमा का बखान करती गुरु पूर्णिमा पर कविता ( Poem On Guru Purnima In Hindi ) को हमें भेजा है अंगेश्वर बैस ने जो छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में रहते है। अंगेश्वर बैस जी कविता और गीत लिखने के शौक़ीन है। हमारे ब्लॉग में ये उनकी पहली कविता है। और आगे भी हमारे पाठको को उनकी कुछ बेहतरीन कविताएँ हमारे ब्लॉग में पढ़ने को मिल सकती है।

अगर आपको गुरु की महिमा पर कविता पसंद आयी, तो इसे शेयर करना ना भूलें ।

धन्यवाद।


Pic from: Prabhasakshi

आगे क्या है आपके लिए:

8 Comments

  1. Avatar shiv
  2. Avatar Hemlal
  3. Avatar Priyanshu Kumar
  4. Avatar Banshi

Add Comment

Safalta, Kamyabi par Badhai Sandesh Card Sanskrit Bhasha ka Mahatva in Hindi Surya Ke Bare Mein Jankari | Surya Ka Tapman Vyas Prithvi Se Doori 25 Famous Deshbhakti Naare and Slogan आधुनिक महापुरुषों के गुरु कौन थे?