Home » शायरी की डायरी » देशभक्ति-देशहित » देश भक्ति शेरो शायरी :- देश भक्ति पर शायरी | Patriotic Dialogue Shayari In Hindi

देश भक्ति शेरो शायरी :- देश भक्ति पर शायरी | Patriotic Dialogue Shayari In Hindi

by Sandeep Kumar Singh

राष्ट्रभक्ति और देश प्रेम एक ऐसी भावनाएं जो हम सब में बराबर मात्रा में होती है। लेकिन अफ़सोस आज हम सिर्फ 15 अगस्त और 26 जनवरी को ही देश हित की बातें करते हैं और देश भक्ति की भावना से ओत प्रोत हो जाते हैं। बाकी दिनों का क्या? हमें अपने दिल में देश भक्ति की भावना हर पल मौजूद रखनी चाहिए। हम भी चाहते हैं कि हर देशवासी हर पल अपने दिल में ये बात रखे कि हमें ये देश शहीदों की कुर्बानियों के कारन मिला है और सरहद पर खड़े जवान की वजह से सुरक्षित है। इसी क्रम में प्रस्तुत है शहीदों शहीदों को समर्पित शायरी, वीर जवानों पर और देश को समर्पित शायरी :- ‘ देश भक्ति शेरो शायरी

देश भक्ति शेरो शायरी

देश भक्ति शेरो शायरी

1.
मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है,
देश की रक्षा का संकल्प लिए हर जवान सरहद पर खड़ा है।


2.
यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं,
है गर्व मुझे इस देश पर क्योंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है।


3.
आजाद, भगत सिंह जैसे, इस देश में जन्में वीर यहाँ,
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गाता है ये सारा जहाँ।


4.
भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसे पापों का जब पतन होगा,
हो जाएगा खुशहाल ये जीवन खुशहाल ये मेरा वतन होगा।


5.
हाथ जोड़कर नमन जो करते, मत समझो कमजोर हैं हम
उठाओ कथायें इतिहास की तो छाये हुए हर ओर हैं हम।


6.
सच्चाई की राह पर चलते, नहीं मन में कोई बुरी भावना
उन्नत हो ये देश हमारा, अपनी तो बस यही कामना।


7.
हर रोज नया दिन, हर रोज नया पर्व है,
विविधताओं से भरे इस देश पर मुझे गर्व है।


8.
उत्तर में है खड़ा हिमालय, दक्षिण में सागर मचल रहा,
पूरब से सूरज निकला देखो, पश्चिम प्रगति में बदल रहा।


9.
न तीर से न तलवार से हम समझाएं पहले प्यार से हम,
जो टकराता है फिर भी हमसे, मिटा दें उसको पहले वार से हम।


10.
सारा संसार ये जानता है हमारी जो भी पहचान है,
संस्कृत से संस्कृति हमारी हिंदी से हिन्दुस्तान है।


11.
गद्दार थे वो लोग जिन्होंने सरहद पर रेखा खींची है,
यूँ ही नहीं मिली आज़ादी हमको, इसे शहीदों ने खून से सींची है।


12.
जन्म लिया जिस देश में मैंने. ह्रदय से उसको नमन हो,
ख्वाहिश बस इतनी है मुझको, मरते वक़्त तिरंगा मेरा कफ़न हो।


13.
पूरा सम्मान वो पाएगा, मेहमान जो बन कर आएगा,
जो आँख उठी दुश्मन की तो, मिटटी में मिलाया जाएगा।


14.
ऐसा देश नहीं है कोई जिसने यह रीत अपनाई है,
देश को कहते माता और लोगों को कहते भाई हैं।


15.
ऐसा सुकून कहीं नहीं मिलता चाहे घूमो सारा जहान,
दिल में एक नाम जो धड़के, वो है अपना हिन्दुस्तान।


पढ़िए: देशभक्ति पर छोटी कविताएँ

इस शायरी संग्रह का विडियो यहाँ देखिये :-

देशभक्ति शायरी | Desh Bhakti Shayari | 15 अगस्त 26 जनवरी पर देशभक्ति शायरी | देश प्रेम पर शायरी

देश भक्ति शेरो शायरी ‘ के बारे में अपनी राय जरूर दें।

पढ़िए देशभक्ति पर और बेहतरीन रचनाएँ :-

धन्यवाद।

You may also like

28 comments

Avatar
sohan lal August 17, 2018 - 10:13 AM

मेरा देश महान सभी भाइयो से मेरा निवेदन है इंसान अपने बारे में ही सोचता है परंतु देश के बारे में कोई नहीं सोचता आज हमारा देश पीछे है क्योंकि आज हम सब पीछे आज हमारे देश में इतना भ्रष्टाचार है क्योंकि हमारा मन भ्रष्ट हो गया है यदि हम देश को महान बनाना चाहते हैं तो पहले खुद को महान बनना पड़ेगा हर मानव से मेरा निवेदन है वह अपना भला नहीं सोचे सबका भला सोचे पड़ोसी का भला सोचे मोहल्ले का भला सोचते नगर का भला सोचे इस तरह सोचोगे तो देश अपने आप बढ़ जाएगा और हमको हमारे देश का करबू क्योंकि यह हमारा देश भारत महान है वंदे मातरम मेरा भारत महान जय हिंद

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 17, 2018 - 2:30 PM

सोहन लाल जी विचार तो आपके बहुत उत्तम हैं परन्तु इसकी शुरुआत हमें खुद से करनी पड़ेगी। यदि हम सब का भला करेंगे तभी दुसरेसे भले की अपेक्षा करना सही है। औरदेश तभी आगे बढेगा जब सब एक साथ आगे बढ़ेंगे। धन्यवाद।

Reply
Avatar
Ankit kumar August 12, 2018 - 11:35 AM

भारत की आजादी की कभी शाम नही होने देगे
शहीदो की कुर्बानी को बदनाम नही होने देगे
जब तक शरीर मे लहु है
भारत मां की आचल को
फिर से
गुलाम नही होने देगे ।

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 12, 2018 - 12:26 PM

बहुत बढ़िया अंकित कुमार जी। भारत माता जी जय।

Reply
Avatar
Prashant Rajput February 20, 2018 - 6:29 PM

very nice shayri si

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh February 24, 2018 - 1:48 PM

Thanks Prashant Rajput ji…

Reply
Avatar
rahul kumar January 3, 2018 - 9:53 PM

very nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh January 3, 2018 - 9:57 PM

धन्यवाद राहुल कुमार जी…..

Reply
Avatar
Amar Singh October 4, 2017 - 7:54 PM

Very nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh October 5, 2017 - 4:35 AM

Thanks Amar Singh ji..m

Reply
Avatar
Devendra September 11, 2017 - 10:58 AM

जय हिंद
किसी हिन्दू की नही किसी मुस्लिम की नही है
है हिन्द जिसका नाम शहीदों की ज़मीं है

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh September 11, 2017 - 11:18 AM

जय हिंद।

Reply
Avatar
Ramdas Rathod September 10, 2017 - 8:35 AM

Jai hind

Jai hind sandeep sir

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh September 10, 2017 - 12:16 PM

Jai hind Ramdas Rathod ji….

Reply
Avatar
rajesh August 15, 2017 - 7:20 AM

jai hind

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 16, 2017 - 11:14 AM

Jai Hind

Reply
Avatar
Aayush August 14, 2017 - 6:39 PM

Very nice it is helpful for me
Thanks

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 16, 2017 - 11:13 AM

It's our pleasure Aayush

Reply
Avatar
Akhilesh kumar August 13, 2017 - 8:44 PM

I like your shayree very much.

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 14, 2017 - 6:34 AM

Thank you very much Akhilesh Kumar ji…

Reply
Avatar
Sk chauhan August 11, 2017 - 12:25 PM

मुझे भी लिखने का शौक है ठहरा जो सीमा प्रहरी ।क्या फायदा इस छपने से दास्तान मे री गहरी।।। धन्यवाद

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 11, 2017 - 12:31 PM

बहुत अच्छे S.K. Chauhan ji…

Reply
Avatar
Amit Kumar Singh August 3, 2017 - 4:50 PM

Good shayri .

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh August 4, 2017 - 9:35 AM

धन्यवाद अमित कुमार सिंह जी।

Reply
Avatar
अमित कुमार सिंह July 26, 2017 - 8:35 AM

Very nice shyri

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh July 30, 2017 - 2:47 PM

धन्यवाद अमित कुमार सिंह जी…..

Reply
Avatar
Salman the greatest July 14, 2017 - 7:57 PM

Yes it is true

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh July 26, 2017 - 2:22 PM

Thanks Salman Bro…..

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More