Home हास्यअन्य हास्य और व्यंग्य मजेदार विचार – चाणक्य के रिश्तेदारों के | Chanakya Funny Hindi Quotes

मजेदार विचार – चाणक्य के रिश्तेदारों के | Chanakya Funny Hindi Quotes

by ApratimGroup

सूचना: दूसरे ब्लॉगर, Youtube चैनल और फेसबुक पेज वाले, कृपया बिना अनुमति हमारी रचनाएँ चोरी ना करे। हम कॉपीराइट क्लेम कर सकते है

आप लोगो ने चाणक्य जैसे महापुरुषों के विचार और कथन तो बहुत सुने होंगे। पर क्या कभी उनके रिश्तेदारों या परिचितों के बारे में सुना है? नही ना। आजकल इन लोगो के मजेदार कथन भी व्हात्सप्प और दुसरे सोशल मीडिया में बहुत छा रहे है। पढ़िए और मजे लीजिये चाणक्य के रिश्तेदारों के मजेदार विचार के…!

चाणक्य के रिश्तेदारों के मजेदार विचार

मजेदार विचार - चाणक्य के रिश्तेदारों के

जो व्यक्ति ATM से भी निकले पैसे को गिनते है
वे जीवन में किसी पे भी विश्वास नहीं कर सकते।

चाणक्य के छोटे दमाद


अगर घी सीधी उंगली से ना निकले तो,
घी को गरम कर ले।

हर बात में उंगली करना
अच्छी बात नहीं।

 -चाणक्य का रसोइया


आपकी अमीरी इस बात से नही दिखती की आपके पास कौन सी कार है,
बल्की इस बात से दिखती है का आप उसमें कितने का पेट्रोल भरवाते है।

-चाणक्य का ड्राईवर


एक बार खोया हुआ प्यार आपको वापस मिल सकता है,
लेकिन,
गाड़ी पोछने का कपड़ा अगर खो जाए तो फिर कभी वापस नहीं मिलता।

 -चाणक्य का डाईवर


मैनें कभी ईंट का जवाब पत्थर से नहीं दिया
मैनें बस वही ईंट वापस दे मारी

पत्थर ढूंढने में कौन टाईम वेस्ट करे भला

-चाणक्य के दादा जी


मुँह से निकली बात,
कमान से निकला तीर
और मोहब्बत में कराये गये Recharge के पैसे,
कभी वापस लौट कर नहीं आते

-चाणक्य के कालोनी का एक दुकानदार



ऐसे ही मजेदार पोस्ट के लिए हमसे जुड़े रहिये, आप हमारे पोस्ट को सीधे अपने ईमेल में भी प्राप्त कर सकते है। उसके लिए आप  इस वेबसाइट में जहाँ ईमेल सब्सक्रिप्शन का फार्म है उसमे अपना ईमेल डाल के सब्सक्राइब कीजिये। 

ये मजेदार लेख पढ़े-

qureka lite quiz

आपके लिए खास:

5 comments

Avatar
Rinku December 13, 2017 - 7:04 PM

Good

Reply
Avatar
अयाझ October 14, 2017 - 8:33 PM

मझेदार चाणक्य के रीश्तेदार । और बढाओ ।

Reply
Chandan Bais
Chandan Bais October 15, 2017 - 7:17 AM

जरुर….

Reply
Avatar
nk shukla March 2, 2017 - 10:19 AM

बहुत लोकप्रिय कथायें

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh March 2, 2017 - 1:14 PM

धन्यवाद nk shukla जी…..

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More