चाँद के बारे में जानकारियाँ जिसे शायद आप अब तक नहीं जानते

धरती से अक्सर आसमान में देखने पर एक खूबसूरत चीज नजर आती है। जिसे हम चाँद कहते हैं। जी हाँ वही चाँद जो पूर्णिमा पर पूरी तरह से नजर आता है और अमावस्या के दिन न जाने कहाँ गायब हो जाता है। पूरी दुनिया में इसकी खूबसूरती के जलवे हैं। लेकिन चाँद के बारे में अधिकतर लोगो को बहुत ही कम ना के बराबर जानकारी होती है। तो आइए जानते है चन्द्रमा या चाँद के बारे में जानकारियाँ।

चाँद के बारे में जानकारियाँ

चाँद के बारे में जानकारियाँ

अपोलो-११ अन्तरिक्ष यान से लिया गया चन्द्रमा का चित्र! स्रोत: NASA

पृथ्वी पर जीवन के लिए चन्द्रमा का महत्त्व

हमारे सौर मंडल में कम से कम 135 चाँद और हैं। लेकिन किसी पर जीवन का अस्तित्व नहीं है। सिवाय पृथ्वी के। पृथ्वी पर भी आज अगर जीवन संभव है तो सिर्फ चाँद के कारण। कैसे? वो ऐसे की जब पृथ्वी से थिया (Theia) नाम का ग्रह टकराया तो धरती 23.5 डिग्री तक झुक गयी थी। और अगर उस समय चाँद न बना होता तो ये फिर से सीधी हो जाती।

चाँद के गुरुत्वाकर्षण के कारण ही धरती अब तक झुकी हुयी है। इसी झुकाव के कारण धरती पर अलग-अलग तरह के मौसम पाए जाते हैं। यदि चाँद न होता और धरती सीधी हो जाती तो दिन और रात दोनों बराबर यानी कि 12 घंटे के होते और दोनों ध्रुवों पर बर्फ ही बर्फ होने के साथ भूमध्य रेखा का क्षेत्र आग से झुलस रहा होता।

कई ग्रहों पर ऐसा होता है। जिसके 2 उदाहरण है बुद्ध और मंगल। मंगल ग्रह के 2 चाँद हैं। लेकिन उनकी गुरुत्वाकर्षण शक्ति इतनी कम है कि जिससे मंगल ग्रह को कोई फर्क नहीं पड़ता। इस वजह से वहां कोई भी मौसम नहीं पाया जाता। बुद्ध ग्रह का कोई चाँद नहीं है इस वजह से वहां भी कोई मौसम नहीं पाया जाता।

इतना ही नहीं जब धरती अस्तित्व में आई तो उस वक़्त 6 घंटे के दिन रात होते थे। ये चाँद ही था जिसने अपनी गुरुत्वाकर्षण शक्ति से धरती कि गति को धीमा किया जिसकी वजह से आज हम 12 घंटे के दिन और रात देखते हैं। ये भी धरती पर जीवन की उत्पत्ति का एक कारण था। इस तरह हम ये तो कह ही सकते हैं की अगर चाँद न होता तो ये चाँद से मुखड़े भी धरती पर ना होते।

अब जानते हैं चाँद के बारे में कुछ और रोचक जानकारियाँ :-

चाँद कैसे बना ( जानने के लिए यहाँ क्लिक करें )

  • चन्द्रमा कैसे बना वो हम यहाँ पढ़ चुके है। इसके अनुसार चाँद, धरती और थिया (Theia) ग्रह के आपसी टक्कर से निकला हुआ 81 मिलियन बिलियन कचड़ा है। जो चट्टानों और धूल का मिश्रण है।
  • जब चाँद अस्तित्व में आया था तो उस समय पृथ्वी और चाँद की दूरी लगभग 22000 की.मी. था जबकि आज ये लगभग 400000 की.मी. दूर है।
  • लगभग हर 24 घंटे में चाँद की सतह पर 5 टन धूमकेतु के टुकड़े टकराते हैं।

चन्द्रमा का आकार और तापमान

  • हमारे आकाश में चाँद दूसरी सबसे ज्यादा चमकदार वस्तु है।
  • चाँद सौर मंडल में पांचवां सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है।
  • देखने में जो चाँद गोल नजर आता है वो असल में अंडाकार है।
  • चाँद का तापमान 250 डिग्री सेल्सिअस से लेकर -380 डिग्री सेल्सिअस होता है।

चन्द्रमा और पृथ्वी की दूरी

  • धरती से चाँद कि दूरी 3,84,400 कि.मी. है। जो कि धरती की परिधि ( Diameter ) से 30 गुना ज्यादा है।
  • चाँद आज जिस दूरी पर है। उससे वह हमें सूर्य के बराबर लगता है और इसी दूरी के कारण सूर्य ग्रहण लगता है। लेकिन दूर भविष्य में चाँद के और भी दूर हो जाने पर सूर्य ग्रहण शायद न लगा करे।
  • चाँद हमारी धरती से हर साल 1.5 इंच दूर हो रहा है। इसका पता तब चला जब चाँद पर एक 18 इंच की परावर्तक चादर ( Reflective Plate ) लगायी गयी। जिस पर लेजर पड़ कर वापस आने के दौरान वैज्ञानिकों द्वारा यह नतीजा निकाला गया।

चन्द्रमा पर मानव

  • चाँद पर आज तक मात्र 12 लोग गए हैं। और दिलचस्प बात ये है कि सब के सब अमरीकी थे।
  • रूस का लूना-1 पहला अन्तरिक्ष यान था जो चन्द्रमा के पास से गुजरा था लेकिन चन्द्रमा की धरती पर उतरने वाला पहला यान लूना-2 था।
  • सन 1972 के बाद कोई भी मनुष्य चादं पर नहीं गया है।
  • एक जानकरी के मुताबिक नासा 2019 में एक बार फिरसे इंसान को चाँद पर उतरने वाला है।
  • आज तक चंद्रमा का 385 किलोग्राम भाग धरती पर लाया जा चुका है।
  • 1972 में चाँद पर उतरने वाले Eugene Cernan आखिरी इन्सान थे।
  • चाँद पर जाने वाले इंसानों द्वारा चाँद पर 1,81,437 कूड़ा-करकट फैंका गया है।

चाँद और पृथ्वी

  • हमने आज तक चाँद को बस एक तरफ से देखा है। उसको दूसरी तरफ से बस अन्तरिक्ष में जाकर ही देखा जा सकता है।
  • चाँद के कारण ही समुद्रों में लहरें उठती हैं। भूचाल और ज्वालामुखी फटने का एक कारण चाँद भी है।
  • एक रिसर्च के अनुसार अमावस के दिन इंसान को बहुत अच्छी नींद आती है और पूर्णिमा के दिन बहुत ही ख़राब नींद आती है।

उम्मीद है हमारे पाठको को चाँद के बारे में ये जानकारी उपयोगी लगने के साथ पसंद भी आयी होगी। हम ऐसी और भी जानकारियाँ आपके लिए लाते रहेंगे, आप बस हमें सहयोग करते रहे। हमारे सोशल मीडिया पेज को लाइक करे और हमारे पोस्ट को शेयर करे और उनके बारे में अपने विचार हमें दे, जिससे हमारा उत्साह बना रहे और हम आपके लिए ऐसी जानकारियाँ लाते रहे।

हमारे कुछ और जानकारियों से भरे लेख जो आपको पसंद आयेंगे:

धन्यवाद।

Add Comment

Safalta, Kamyabi par Badhai Sandesh Card Sanskrit Bhasha ka Mahatva in Hindi Surya Ke Bare Mein Jankari | Surya Ka Tapman Vyas Prithvi Se Doori 25 Famous Deshbhakti Naare and Slogan आधुनिक महापुरुषों के गुरु कौन थे?