Home » शायरी की डायरी » शायरी संग्रह | संदीप कुमार सिंह की हिंदी शायरी संग्रह – 4

शायरी संग्रह | संदीप कुमार सिंह की हिंदी शायरी संग्रह – 4

by Sandeep Kumar Singh

आप पढ़ रहे है, संदीप कुमार सिंह की शायरी संग्रह – 4

संदीप कुमार सिंह की शायरी संग्रह

शायरी संग्रह

1. बेबसी

सुला दिया है मैंने अपने ईमान को इस भ्रष्ट बाजार में,
पता चला है की बर्बाद हो गए हैं कई शिष्टाचार में,
राज चोरों का चल रहा है यहाँ ज़मीर वालो पर
ताकत आ गयी है आज कल बुराई के हथियार में।

2. नज़र

बड़ी मुद्दत बाद मिला तो
उसकी नजरों ने आज ऐसा काम किया,
खामोश रहा वो भरी महफ़िल में,
और जी भर के हमें बदनाम किया।

3. भूख प्यार की

सुला दे मुझे कोई झूठा दिलासा देकर,
बहुत देर से भूखा हूँ मैं,
रोटी ना मिली एक वक्त की मुझे
बस खाने को धोखे ही मिले
माँ के जाने के बाद।

4. सबात

खुश तो रहता हूँ मैं आज कल
पर दिल में दर्द-ए-जज़्बात बहुत हैं,
चल रही है जिंदगी बिना रुके पर
कहीं ख्यालों का सबात बहुत है।

सबात = ठहराव

5. अंत

न गम कर ऐ मुसाफिर
चंद लम्हों में जिंदगी बीत जाएगी,
अंजाम विदाई होगी इस दुनिया से
मिट्टी कब्र की या श्मशान की
तेरे हिस्से आएगी।

6. बेवफा

मत छेड़ तराने दिल के
जब भी सुनते हैं बिखर जाते हैं,
दिल बदल जाता है जब लोगों का
चेहरे खुद-ब-खुद बदल जाते हैं।

7. ख़ामोशी

न याद करूगाँ, न फरियाद करूगाँ,
तेरा ज़िक्र न तेरे जाने के बाद करूगाँ,
बर्बाद भी हुआ जो तुझसे दूर होकर,
मैं बयाँ न अपने जज़्बात करूगाँ।

8. सोच

नदी बनकर न मिटाउंगा अस्तित्व अपना,
अब सागर को मुझ तक आना होगा।
राही नहीं मंजिल बनुंगा मैं,
हर मुसाफिर को मुझ तक आना होगा।

अन्य शायरी संग्रह पढ़े-

इस शायरी संग्रह के बारे में अपने विचार कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें और साथ ही लिखें इस शायरी संग्रह का वह शेर जो आपको सबसे अच्छा लगा

धन्यवाद

You may also like

8 comments

Avatar
Prabhat March 23, 2017 - 1:49 AM

Nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh March 23, 2017 - 6:29 AM

Thank you Prabhat bro……

Reply
Avatar
Pramod kumar March 18, 2017 - 9:18 AM

very very nice

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh March 18, 2017 - 12:28 PM

Thanks Pramod Kumar Ji….

Reply
Avatar
Atul Verma March 14, 2017 - 7:41 PM

बेहतरीन

Reply
Sandeep Kumar Singh
Sandeep Kumar Singh March 14, 2017 - 7:50 PM

Thanks Atul Verma ji……

Reply
Avatar
kishor November 2, 2016 - 8:48 AM

Very nice

Reply
Mr. Genius
Mr. Genius November 2, 2016 - 4:58 PM

Thanks Kishor ji….

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More